कांग्रेस ने गैरसैंण, पंचायती एक्ट सहित प्रमुख मुदृों पर भाजपा सरकार को घेरा

0
47
देहरादून। उत्तराखण्ड कांग्रेस ने राज्य और केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ मुखर होकर राजधानी देहरादून में आज एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया और राज्यपाल को ज्ञापन भेजा। इस दौरान पंचायत अधिनियम संशोधन, प्रस्तावित राजधानी गैरसैंण,महंगाई, भ्रष्टाचार व कानून-व्यवस्था सहित प्रमुख मुदृों पर बीजेपी सरकार की नाकामियों को गिनाते हुए आंदोलन की चेतावनी दी।
कार्यक्रम में हरीश रावत,नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश सहित प्रदेश कांग्रेस के सभी बड़े नेता शामिल हुए। हालां​कि इस दौरान कांग्रेस की गुटबाजी भी खुलकर दिखी।
सोमवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में एकत्र हुए। वहां से जुलुस की शक्ल में घंटाघर होते हुए गांधी पार्क में पहुंचे। यहां पर धरने पर बैठकर केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार के महंगाई, भ्रष्टाचार व कानून-व्यवस्था समेत तमाम मुद्दों को लेकर प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेस नेता अलग-अलग खेमे में नजर आए। धरना स्थल पर पहले से नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और पूर्व मंत्री दिनेश अग्रवाल मौजूद रहे। इसके बाद हरीश रावत और पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी पहुुंचे।
प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह से समाप्त हो चुकी है। फिर भी सरकार जनता को भ्रम में डाल रही है। अपने सौ दिन के लिए वादों को पूरा करने विफल रही है। सरकार को सत्ता संभाले लगभग तीन साल होने वाले है। ऐसे में इस सरकार से विकास की उम्मीद करना बेमानी लग रहा है। उन्होंने कहा कि महंगाई, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों लोगों को जिना मुहाल कर दिया है। राज्य की राजधानी गैरसैंण पर भाजपा सरकार की नजरिया ठीक नही है। गैरसैंण में भूमि खरीद पर लगी रोक हटाने से जनता सरकार के छलावे को समझने लगी है।
प्रीतम सिंह ने पंचायती राज एक्ट संशोधन पर सरकार की रवैये को गलत करार देते हुए कहा कि इस एक्ट को लेकर कांग्रेस आगे भी आंदोलन अपना जारी रखेगी। वहीं उन्होंने बेरोजगारी और महंगाई पर सरकार नसीहत देते हुए कहा कि सरकार एक के बाद एक रोजगार छिन रही है। ऐसे में पलायान रोकने की बात कही से न्याय संगत नही है। उन्होंने आंदोलनकारियों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग प्रदेश सरकार से की। साथ ही कानून-व्यवस्था, भ्रष्टाचार और राफेल खरीद के मुद्दे पर ​डबल इंजन सरकार की ​आड़े हाथ लिया।
प्रीतम सिंह ने कहा कि गैरसैंण के मसले पर अब निर्णय लेने का समय आ गया है। कांग्रेस भी जनभावना के साथ चलते हुए प्रदेश सरकार को घेरेगी। कांग्रेस सत्ता में आई तो गैरसैंण पर ठोस निर्णय लेगी।
हर मामले में पूर्ववर्ती सरकार को बहाना न बनाए सरकार
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा को अब हर बात पर कांग्रेस के सिर ठीकरा फोड़ने की बजाए अपनी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी का प्रदर्शन लोकसभा चुनाव में अच्छा नहीं रहा लेकिन बाजपुर और श्रीनगर में जनता ने कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताकर भाजपा सरकार के प्रति अपने आक्रोश को प्रकट किया है। इंदिरा हृदयेश ने भाजपा सरकार के वादें को याद दिलाते हुए कहा कि सरकार के कथनी और करनी में बड़ा फर्क है।
मंच के नीचे बैठे हरीश रावत
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और कांग्रेस के दिग्गज नेता हरीश रावत धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में अपने अंदाज में शामिल हुए। कार्यक्रम स्थल पर पहुंचते ही वे मंच के वजाए जमीन पर अपने समर्थकों के साथ बैठ गए। इस दौरान उन्होंने सबका ध्यान अपनी ओर ​खींच लिया। उनके साथ मंत्री प्रसाद नैथानी भी रहे, जबकि कुछ ही देर बार प्रीतम सिंह भी पहुंचे और उनकों भी कांग्रेस नेताओं ने हरीश रावत के साथ बैठा दिया। बाद में हरीश रावत धरना कार्यक्रम को बीच में छोड़कर चले गए।