उत्तराखंड में भाजपा का शानदार प्रदर्शन, मुख्यमंत्री धामी बोले- आने वाले चुनावों में भी कमल खिलाना है

0
50

उत्तराखंड में पांचों लोकसभा सीट पर भाजपा रिकॉर्ड मतों से जीत की ओर अग्रसर है। बस आधिकारिक घोषणा होना बाकी है। भाजपा के शानदार प्रदर्शन पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि अब हम सभी भारत के संकल्प को लेकर आगे बढ़ेंगे। इस जीत के अंतर को बढ़ाने के लिए संगठन आगे और कार्य करेगा और हम सभी उसके वाहक बनेंगे। आने वाले समय में पंचायत, निगम और विधानसभा उप चुनाव होने हैं। इन चुनावों में भी कमल खिलाना है।

बलवीर रोड स्थित भाजपा प्रदेश मुख्यालय पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि प्रदेश कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ आज ऐतिहासिक दिन है, जब एनडीए गठबंधन को देश की जनता ने बहुमत देकर फिर से सरकार में आने का अवसर दिया है। उत्तराखंड में प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के नेतृत्व में यह सफलता मिली है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने उनका अभिनंदन किया और धन्यवाद दिया। लगे हाथ मुख्यमंत्री ने विपक्ष से एक सवाल भी दागा। उन्होंने पूछा कि इस बार ईवीएम ठीक है क्या?

मुख्यमंत्री धामी ने पार्टी को दी मां की संज्ञा

धामी ने पार्टी को मां की संज्ञा दी और कहा कि मां के इस प्रांगण में सभी का स्वागत एवं अभिनंदन करता हूं। इस चुनाव अभियान में सभी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। पिछले 10 वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गरीब कल्याण, महिला उत्थान के लिए कई योजनाएं चलाई गईं। नौजवानों को स्किल से जोड़ना हो या फिर किसानों का उत्थान, हर दृष्टि से जो काम हुए उसी का प्रमाण है कि नरेन्द्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए जनता ने एनडीए को अपना पूर्ण बहुमत दिया है।

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड को कई योजनाएं मिली हैं। चाहे चारधाम यात्रा प्रोजेक्ट हो या केदारनाथ का पुनर्निर्माण अथवा केदारनाथ तथा हेमकुंड का रोप-वे, सभी योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। टनकपुर रेलवे लाइन पर भी तेजी से काम चल रहा है। ये सब इसी कारण से संभव हो पाया है कि प्रधानमंत्री मोदी का उत्तराखंड से विशेष लगाव है। उत्तराखंड उनके हृदय में बसता है। आज उत्तराखंड आगे बढ़ गया है। यही कारण है कि माताओं-बहनों, बड़े बुजुर्गों और नौजवानों ने इस बार बड़े अंतर से पांचों की पांचों सीटें जिताई है। हर वर्ग ने बड़ी संख्या में प्रधानमंत्री को अपना मत दिया। डबल इंजन सरकार के कारण हमने कई फैसले लिए हैं। उत्तराखंड में यूसीसी विधेयक बनाया, जिसे कानून के रूप में मान्यता मिल गई है।