यमकेश्वर में मवेशियों पर हमला करने वाले जंगली जानवर के सुराग के लिए लगे सीसीटीवी

0
34
ऋषिकेश, पौड़ी गढ़वाल के अंतर्गत यमकेस्वर ब्लॉक मे बीते पांच सालों से शीतकाल मे गौशालाओं को तोड़कर सैकड़ों मवेशियों को निवाला बना चुके अज्ञात जानवरों की धर पकड़ के लिए वन विभाग ने अभियान तेज कर दिया है।
ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग की टीम ग्रामीणों के साथ अज्ञात जानवरों की धरपकड़ के लिए निकली, जिसमें क्षेत्र पंचायत सदस्य बूंगा, पूर्व सैनिक सुदेश भट्ट काफी दिनों से जानवरों के हमले से बचाने के लिए विभाग से गुहार लगा चुके हैैंं। उन्होने लाल ढांग रेंज के अधिकारी विरेंद्र पाल को फोन पर भी समस्या से अवगत कराया। नतीजतन, वन विभाग हरकत मे आ गया है। सुदेश भट्ट, जिन्होंने तीन दिन पहले क्षेत्रीय नागरिकों के बताने पर जन प्रतिनिधि और समाज सेवियों के साथ क्षेत्र का दौरा कर जंगल में एक अज्ञात झोपड़ी का पता लगाया । इसे ग्रामीणों द्वारा संभवतः खुंखार जानवर का निवास बताया जा रहा है । सुदेश भट्ट ने इसकी सूचना वन रेंज अधिकारी विरेंद्र पाल को दी, उसके बाद क्षेत्र मे कैमरा लगाकर इस अज्ञात जानवर की वास्तविकता का पता लगाने की गुहार लगाई ।
लोगों की मांग पर आज वन विभाग के कर्मचारियों ने जंगल में रहस्यमयी जानवर के आवागमन वाले संदिग्ध रास्तों पर कैमरे लगा दिये। ये कैमरे लगभग एक हफ्ते तक लगे रहेंगे । इनकी मदद से हर पांच सेकेंड मे हो रही किसी भी हलचल को कैद कर वास्तविकता का पता लगाया जाएगा। इसकेे अतिरिक्त सुरेश भट्ट ने वन विभाग की कार्रवाई का स्वागत भी किया है।