काशीपुर हमले के आरोपियों पर मामूली धाराएं लगाने पर भड़के

0
515

काशीपुर, एक अधिवक्ता व उसके भाई पर हुए जानलेवा हमले के मामले में पुलिस द्वारा मामूली धाराएं लगाए जाने एवं आरोपियों की गिरफ्तारी न किये जाने के विरोध में बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आनन्द स्वरूप रस्तोगी के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने कोतवाली पहुंच पुलिस के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन किया।

बता दें कि प्रभात कॉलोनी निवासी नरेश चन्द्र पुत्र हजारी सिंह ने पुलिस को तहरीर देते हुए कहा है कि उसके पुत्रा मोहित काम्बोज एड. अपने भाई मोहन काम्बोज के साथ बीती 12 मार्च की रात्रि बाइक द्वारा अपने घर लौट रहे थे कि कालोनी के पास विशाल कांबोज पुत्र विजय सिंह, संदीप बाबू, पुत्र ईश्वर चन्द्र व एक अन्य व्यक्ति ने उनके पुत्रों को घेर कर उन पर लाठी डण्डों व कांच की बोतलों से जानलेवा हमला कर उन्हें लहूलुहान कर दिया।

पुलिस ने घायल अधिवक्ता मोहित के पिता नरेश चन्द्र काम्बोज की तहरीर के आधार पर आरोपियों के विरूद्व धारा 323,504,506 आइपीसी के तहत नामजद रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच एसआई प्रशिक्षु भावना कर्णवाल को सौंपी थी। इधर आज अधिवक्ताओं ने उक्त मामले में मामूली धाराएं लगाए जाने व आरोपियों के खुले आम घूमने के विरोध में कोतवाली पहुंच पुलिस के विरूद्ध नारेबाजी कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया।

अधिवक्ताओं की मांग थी कि पुलिस जांच में हीलाहवाली बरत रही है तथा आरोपी खुलेआम घूमकर लगातार पीडि़तों को धमकी दे रहे हैं। अधिवक्ताओं ने मामले को धारा 307 या 308 आईपीसी में भी तरमीम करने की मांग की। इस दौरान एसएसआई व प्रभारी कोतवाल लाखन सिंह ने अधिवक्ताओं को बताया कि पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है तथा घायल अधिवक्ता का मेडिकल आने पर मेडिकल के आधार पर धाराएं बढ़ा दी जाएंगी। उन्होंने आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का भी आश्वासन दिया।