नैनीताल से खास लगाव था दिवंगत अभिनेता इरफान खान को

0
69
एक नाटक में इदरीश व इरफान सबसे बांये व सबसे दांये
कम उम्र में बड़ी जिंदगी जीने वाले दिवंगत सिने अभिनेता इरफान खान का थियेटर की नगरी नैनीताल से खास लगाव था। खासकर अपने राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) के सहपाठी इदरीश मलिक व सुनीता अवस्थी के होने की वजह से खास लगाव था। वह नगर में पिछले डेढ़ दशक से आयोजित हो रहे ग्रीष्म नाट्य महोत्सव की आयोजन समिति में भी थे और पांच-छह बार नैनीताल आये थे। उन्होंने नैनीताल के निकट ही रामगढ़ में करीब डेढ़-दो वर्ष पूर्व एक कॉटेज भी लिया था। उनकी लगातार यहां आते रहने और बच्चों को कार्यशाला में थियेटर की कक्षाएं देने की योजना भी थी। लेकिन अफसोस कि इससे पहले ही दुनिया से विदा हो गये हैं।
साथ में कई सीरियल करने वाले सहपाठी अभिनेता इदरीश मलिक ने साझा कीं यादें
नगर निवासी सिने कलाकार एवं ग्रीष्म नाट्य महोत्सव एवं मंच संस्था के प्रमुख इदरीश मलिक ने बताया कि 1984 से 87 तक एनएसडी में स्नातक की पढ़ाई दौरान तीन साल न केवल साथ वह इरफान के साथ वरन एक कमरे में रूम मेट की तरह रहे। इस दौरान आपस में एक-दूसरे का खर्च में भी हाथ-बंटाते हुए जिंगदी चलती थी। एनएसडी के तीन वर्षों में उन्होंने साथ में उरुभंगम, फुजियामा, इडिपस, फाइटिंग कॉक, लोवर डेप्थ सहित 20 से अधिक नाटक किये। फिर सात-आठ साल मुंबई में भी साथ बना रहा और इस दौरान दोनों ने बनेगी अपनी बात, हमराही, भारत एक खोज व दिल्लगी सहित कई सीरियलों में साथ काम किया था। उन्होंने बताया कि उनके साथ अभिनीत संजय मिश्रा की निर्देशित फिल्म ‘प्रणाम वालेकुम’ बनकर तैयार है और शीघ्र रिलीज भी होने जा रही है, लेकिन इससे पहले ही उनके निधन की खबर आ गयी। इदरीश ने बताया कि वे अक्सर नैनीताल आते रहते थे और यहां गार्डन हाउस में रहते थे। इरफान की मौत से दुःखी इदरीश ने कहा कि यह दुःखद दुर्योग ही है कि इरफान को बर्सोवा के कब्रिस्तान में दफनाया गया है, जहां इदरीश का घर है। इदरीश ने इस पर कहा, अलविदा दोस्त, बर्सोवा में हर रोज मिलेंगे।