इस बार नया रिकार्ड बनाने को अग्रसर केदारनाथ धाम

    0
    277
    केदारनाथ
    File

    उत्तराखंड की चार धाम यात्रा में इस बार केदारनाथ धाम नया रिकार्ड बनाने की ओर अग्रसर है। यह रिकार्ड यात्रियों की संख्या से जुड़ा है। यात्रा को शुरू हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं और केदारनाथ में यात्रियों की संख्या ढाई लाख को पार कर गई है। यात्रियों में सबसे ज्यादा क्रेज केदारनाथ पहुंचने को लेकर दिख रहा है।

    यात्रा का इतिहास उठाकर देखें, तो यात्रियों के पहुंचने की जो स्थिति अभी तक रहा करती थी, उसमें सबसे ज्यादा यात्री बदरीनाथ पहुंचता था। इसके बाद केदारनाथ, फिर गंगोत्री और यमुनोत्री। मगर 2013 की आपदा के बाद केदारनाथ के पुनर्निर्माण की जो कवायद मोदी सरकार ने की है, उसने पूरी स्थिति बदल दी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के केदारनाथ पर खास फोकस के बाद यात्रियों की प्राथमिकता में सबसे पहले केदारपुरी पहुंचना शामिल हो गया है। हालांकि यात्रा अभी नवंबर तक चलनी है। यात्रा की समाप्ति पर ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि सबसे ज्यादा यात्री इस बार कहां पहुंचे, लेकिन वर्तमान में केदारनाथ में सबसे ज्यादा यात्री पहुंचे हैं। वैसे, बद्रीनाथ धाम भी ढाई लाख यात्रियों के आंकड़ा को छूने के करीब पहुंच गया है।

    कोविड-19 की स्थितियों से उबरने के बाद चार धाम यात्रा इस बार परवान चढ़ी है। जब तक कोविड-19 की दस्तक नहीं हुई थी, तब वर्ष 2019 की यात्रा में सबसे ज्यादा सवा दस लाख यात्री बदरीनाथ धाम पहुंचे थे। केदारनाथ में भी दस लाख यात्री पहुंच गए थे। यह पहली बार हुआ था कि जबकि दोनों धामों में यात्री संख्या लगभग बराबर हो गई थी। इस बार केदारनाथ धाम यात्री संख्या के लिहाज से नया रिकार्ड बनाने की तरफ बढ़ रहा है।

    चार धाम यात्रा में रिकार्ड यात्री आने से सरकार गदगद है, हालांकि यात्रा इंतजामों को लेकर उसके हाथ पांव भी फूले हुए हैं। यात्रा के मोर्चे पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने मंत्रियों को तैनात कर दिया है। इसके बावजूद, अव्यवस्थाओं की खबरें भी मिल रही हैं। हालांकि सरकार का दावा है कि रिकार्ड यात्रियों के आने के बावजूद उनकी सुरक्षित और सफल यात्रा के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।