आरपी ईश्वरन के घर हुई लूट का पुलिस ने किया खुलासा, मास्टर माइन्ड समेत चार गिरफ्तार

0
33
देहरादून, अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन की कोठी में हुई लूटपाट मामले में पुलिस ने मास्टर माइन्ड सहित चार को गिरफ्तार वारदात का खुलासा कर दिया है। दिल्ली व अन्य ठिकानों पर दी गई दबिश में पुलिस ने लुटेरों को गिरफ्तार किया। अभी चार आरोपित फरार हैं। आरोपितों ने लगभग 60 लाख रुपये से अधिक की संपत्ति लूट ली थी।
पुलिस ने आरोपितों के पास से 11 लाख 69 हजार 5 सौ रुपये, गणेश जी की पीली धातु की बड़ी मूर्ति, सफेद धातु की ट्रे, सफेद धातु का ग्लास, गणेश जी की मूर्ति सफेद धातु, लक्ष्मी जी की मूर्ति सफेद धातु, गले की चैन मय लौकेट सफेद धातु , स्पिंन्टल बहुमूल्य आभूषण, गाड़ी ई को स्पोर्ट्स (डीएल 12 सीजे 7546 ) और मोटर साइकिल प्लसर बरामद की है।
एसएसपी अरुण मोहन जोशी नेबताया कि, “गत 22 सितम्बर की देर रात आरपी ईश्वरम निवासी मसूरी रोड़ के कोठी में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। इस संबंध में आरपी ईश्वरम ने थाना राजपुर पर तहरीर दिया था। बताया कि हथियारबन्द बदमाशों ने उन्हें व उनके परिवार को घर में बन्धक बनाकर उनके घऱ से नकदी व ज्वैलरी व अन्य सामान लूट कर ले गये हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की आठ टीमों का गठन किया गया था। इसमें लगभग 250 सीसीटीवी कैमरों का फुटेज संकलित किये गये। “
पुलिस टीम ने आरोपितों के सम्भावित ठिकानों पर दबिश दी। जिसमें मुख्य मास्टर माइन्ड विरेन्द्र सिंह उर्फ ठाकुर साहब को लूटी गयी सम्पत्ति व नकदी के साथ पहाड़गंज दिल्ली से गिरफ्तार किया गया। विरेन्द्र सिंह उर्फ ठाकुर साहब बीएसएफ में डिप्टी कमान्डेन्ट के पद पर था जो वर्ष 2000 में रिश्तखोरी के मामले से बर्खास्त हुआ था। इसके अलावा देहरादून की एक टीम द्धारा अभियुक्त मुजिबुर रहमान उर्फ पीरु को उसके घर से, फुरकान को छुटमुलपुर से मय नगदी व सामान के साथ गिरप्तार करने में सफलता प्राप्त की गयी। अन्य वांछित अभियुक्तो की गिरफ्तारी के लिये विभिन्न टीमें गैर राज्यों में प्रयासरत है।
गिरफ्तार आरोपितों में वीरेन्द्र सिंह उर्फ ठाकुर साहब पुत्र अमे सिंह निवासी बी 247 छतरपुर थाना मैदान गढ़ी दिल्ली, मौ0 अदनान पुत्र स्व. मौ. अली निवासी हाउस पान मण्डी सदर बाजार नई दिल्ली, मुजिब्बुर रहमान उर्फ पिरु पुत्र वहीद अली निवासी आजाद नगर कालोनी थाना रायपुर देहरादून,  फुरकान पुत्र मुस्ताक निवासी अलावलपुर थाना भगवानपुर हरिद्वार का रहने वाले हैं। चार आरोपित अभी फरार हैं जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।