‘फायर इन द माउंटेंस’ को लॉस एंजिल्स में मिला ऑडियंस अवार्ड

0
101
पहाड़
नैनीताल एवं उत्तराखंड के कई कलाकारों के अभिनय से सजी तथा पहाड़ की समस्याओं के समाधान के लिए यहां की नई व पुरानी पीढ़ियों के बीच नए व पारंपरिक जागर जैसे धार्मिक आयोजनों के समाधानों को रेखांकित करती हिंदी फीचर फिल्म ‘फायर इन द माउंटेंस’ ने लॉस एंजिल्स में आयोजित 19वें वार्षिक भारतीय फिल्म समारोह में सर्वश्रेष्ठ फीचर के लिए ऑडियंस अवार्ड जीता है। इस फिल्म को 20 से 27 मई तक कैलिफोर्निया में आयोजित समारोह के उद्घाटन अवसर पर प्रदर्शित किया गया।
82 मिनट की यह फिल्म पहाड़ की एक ऐसी मां के बारे में है जो अपने व्हील चेयर से बंधे बेटे को फिजियोथेरेपी के लिए चिकित्सालय ले जाने में सक्षम होने के लिए एक दूरदराज के हिमालयी गांव में सड़क बनाने के लिए पैसे बचाने के लिए कड़ी मेहनत करती है, लेकिन उसके पति का मानना है कि जागर लगाकर देवताओं के आह्वान से उसका बच्चा ठीक हो सकता है। फिल्म में नैनीताल के वरिष्ठ कलाकार मुकेश धस्माना ग्राम प्रधान की नकारात्मक भूमिका में, जबकि मदन मेहरा हड्डी रोग विशेषज्ञ की जबकि अल्मोड़ा निवासी मुंबई में स्थापित एनएसडी स्नातक चंदन बिष्ट नायक की मुख्य भूमिका में हैं। साथ ही पहाड़ के ही हर्षिता तिवारी और मयंक सिंह जैड़ा भी फिल्म में हैं, साथ ही विनम्रता राय और सोनल झा की भी भूमिकाएं हैं।
बताया गया है कि इससे पहले इस फिल्म का सनडांस फिल्म फेस्टिवल-2021 में वर्ल्ड प्रीमियर हुआ था। वर्ल्ड सिनेमा ड्रामेटिक कॉम्पीटिशन में भी यह फिल्म 10 फिल्मों में से दक्षिण एशिया से चुनी गई एकमात्र फिल्म थी। हाल ही में इस फिल्म ने स्पेन में आयोजित हुए 20वें लास पालमास डी ग्रैन कैनरिया अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में इसे सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए सिल्वर लेडी हरिमगुड़ा और फिल्म के अभिनेता चंदन बिष्ट को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार भी जीते हैं।
नैनीताल के फिल्मकार संजय की फिल्म को बेस्ट जूरी अवार्ड :नैनीताल के फिल्मकार संजय सनवाल की फिल्म मॉनीटर ने इसी माह आयोजित नवादा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल-2021 में ‘बेस्ट जूरी अवार्ड’ जीता है। बताया गया है कि 9 सितंबर 2020 से 9 मई 2021 तक नवादा (बिहार) में आयोजित इस फिल्म फेस्टिवल में 55 देशों की 1650 फिल्मों ने प्रतिभाग किया था।