व्यवस्थित शहर के रूप में जल्द नजर आएगी धर्मनगरी

0
646

हरिद्वार। आस्था का केंद्र धर्मनगरी हरिद्वार में हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं आने के बावजूद हरिद्वार प्लान सिटी नहीं बन पायी थी, लंबी कवायद के बाद आखिरकार हरिद्वार का सिटी प्लान तैयार हो गया है। सिटी प्लान के हिसाब से सब कार्य किया गया तो हरिद्वार जल्द एक व्यवस्थित शहर के रूप में नजर आएगा।

शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने विशेष बातचीत के दौरान बताया कि, “प्रदेश सरकार हरिद्वार को एक व्यवस्थित शहर बनाने की दिशा में काम कर रही है। इसी के तहत हरिद्वार की एक-एक सड़क को ध्यान में रखते हुए सिटी प्लान तैयार किया गया है। इन सड़कों पर बिजली के खंबे, टेलीफोन की तारें, पार्किंग, डिवाइडर सभी को व्यवस्थित कर शहर को एक नया रूप दिया जाएगा। हालांकि, इस काम की समय सीमा अभी तय नहीं की गयी है। कौशिक ने बताया कि इस कार्य को समय सीमा में नहीं बांधा जा सकता, लेकिन इसकी कवायद शुरू कर दी गई है।”

शहर को व्यवस्थित करने के लिए बनाई गई कमेटी के नोडल अधिकारी मनीष कुमार सिंह का कहना है कि देहरादून की तर्ज पर अब हरिद्वार को भी व्यवस्थित करने की कवायद शुरू की गई है। प्रथम चरण में प्रयोग के तौर पर चंद्राचार्य चैक से पुल जटवाड़ा तक सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण हटाया जाएगा, फुटपाथ बनाया जाएगा, पार्किंग व्यवस्था होगी। प्रथम चरण के सफल होने के बाद पूरे शहर में यहीं व्यवस्था लागू की जाएगी।

बता दें कि 1985 से कभी हरिद्वार के लिए सिटी प्लान नहीं बनाया गया है। जबकि शहर को व्यवस्थित करने की जिम्मेदारी हरिद्वार विकास प्राधिकरण की है। स्थानीय लोगों का कहना है कि शहर में अभी तक कोई सिटी प्लान ना होने के कारण पूरा शहर ही अव्यवस्था की भेंट चढ़ हुआ है। इसकी ओर अब तक किसी ने कोई ध्यान नहीं दिया। धर्म नगरी देश दुनिया मे जानी जाती है लेकिन करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद अब तक हरिद्वार शहर अव्यवस्थित ही है।

लंबी कवायत के बाद आखिरकार अब हरिद्वार को व्यवस्थित करने की तैयारी की गई है। सिटी प्लान के तहत मध्य मार्ग को व्यवस्थित किया जाएगा। सड़क के दोनों ओर से अतिक्रमण हटाया जएगा। सड़क किनारे लगे बिजली पोल हटाये जाएंगे। लोगों के चलने के लिए बनेगा फूटपाथ। जगह जगह बनेगी पार्किंग। बनाया जाएगा वेंडिंग जोन। प्रथम चरण में पुल जटवाड़ा से चंद्राचार्य चैक तक होगा कार्य।