एडीजी अशोक कुमार को मिली लॉ एंड ऑर्डर की ज़िम्मेदारी

0
9916

उत्तराखंड में बाबा राम रहीम को दोषी करार देने के बाद से ही प्रशासन और खासतौर पर पुलिस महकमा हाई अलर्ट पर है। इस सबके बीच पुलिस महकमें आला स्फोतर पर फेरबदल किया गया। पुलिस मुख्यालय में तैनात एडीजी स्तर के 2 अधिकारियों के विभागों में फेरबदल किया गया है।  एडीजी अशोक कुमार को  लाॅ एंड आॅर्डर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। ये विभाग इससे पहले राम सिंह मीणा संभाल रहे थे। राम सिंह मीणा को एडीजी कार्मिक और डाइरेक्टर विजिलेंसकी अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है। गौरतलब हैं कि शुक्रवार दिन में राम रहीम पर फैसला आने के बाद पंचकुला में तनाव के हालात बने हुए हैं। एजीडी लाॅ एंड आर्डर का पद संभालते ही कुमार के सामने बाबा राम रहीम प्रकरण के चलते राज्य में क़ानून व्यवस्था को क़ाबू में रखने की चुनौती है। और इस चुनौती के लिये कुमार ख़ुद को और राज्य की पुलिस फ़ोर्स क पूरी तरह तैयार बता रहे हैं।

हरियाणा के पानीपत जिले के कुराना गांव में जन्में अशोक कुमार का पुलिस विभाग में लंबा सफ़र रहा है। राज्य ही नहीं उन्होंने केंद्र में बीएसएफ़ औऱ सीआरपीएफ में भी महत्वपूर्ण पदों पर ज़िम्मेदारी सँभाली है। वो अन्तर्राष्ट्रीय मंच पर संयुक्त राष्ट्र में कोसोवो में भी अपने सेवाएँ दे चुके हैं। आईआईटी दिल्ली से पढ़ाई करने वाले कुमार का नाम क़ानून व्यवस्था को सुदृढ़ रखने के अलावा पुलिस विभाग के लिये कई अन्य काम भी किए हैं। इनमें उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय और देहरादून स्थित पुलिस कॉलोनी का निर्माण शामिल है। बतौर निदेशक पुलिस खेल विभाग कुमार ने पुलिस और आम लोगों में खेलों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिये कई सकारात्मक क़दम उठाये हैं। जिनमें पिछले साल आयोजित की गई देहरादून हाॅफ मैराथन शामिल है। इस दौड़ में राज्य ही नहीं देश विदेश से कुल मिलाकर क़रीब 30 हज़ार लोगों ने हिस्सा लिया। इस साल दिसंबर में इस दौड़ के दूसरे अध्याय के लिये ज़ोर शोर से तैयारी चल रही है।