अल्मोड़ा में बन रही दवा से कोरोना के इलाज का दावा

0
412
कोरोना

नैनीताल, दुनिया में कोहराम मचा रहे कोरोना वायरस का इलाज संभव है। यह दावा नैनीताल जिले के रामनगर से सटे अल्मोड़ा जिले के मोहान स्थित इंडियन मेडिसिन फार्मा सिटिकल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईएमपीसीएल) ने किया है। आईएमपीसीएल ने कहा है कि उसकी यूनानी दवा ‘त्रियाके नजला’, ‘शर्बते उन्नाब’ और ‘हब्बे बुखार’ के प्रयोग से कोरोना वायरस शुरुआती दौर में ही मर जाता है।

आईएमपीसीएल के मुख्य प्रबंधक मनजीत सिन्हा ने बताया है कि मध्य प्रदेश सरकार ने इन तीनों दवाओं को खरीदने के लिए 35.50 लाख रुपये से अधिक राशि का ऑर्डर किया है। सिन्हा ने बताया है कि इन तीनों दवाइयों को आईएमपीसीएल वर्षों से बना रहा है। यह तीनों दवाएं कोरोना वायरस की रोकथाम में बेहद कारगर साबित हो सकती हैं।

उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश के संचालनालय आयुष की सहायक संचालक डॉ. वंदना बोराना के प्राप्त पत्र के अनुसार इन दवाओं की आपूर्ति मध्य प्रदेश के 28 जिलों के सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में की जानी है। यह दवा कोरोना के संदिग्ध पीड़ितों को दी जाएगी। आईएमपीसीएल के जनरल मैनेजर पनीराम आर्य ने बताया कि उनके यहां दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।