घाट आपदा में सभी छह मृतकों के शव बरामद 

0
27
गोपेश्वर, चमोली जिले के घाट ब्लॉक के लांखी बांजबगड़ और आली गांवों में बादल फटने से तीन आवासीय भवन ध्वस्त होने से तीन बच्चे, एक महिला, एक युवक और एक युवती समेत छह लोगों की मौत हो गई है। वहीं इस घटना से गांव के पैदल रास्ते, पेयजल और विद्युत लाइन बाधित हो गई थी। वहीं क्षेत्र में हुई मूसलाधार बारिश के चलते यहां चुफलागाड नदी के उफनाने से यहां घाट बाजार में दो व्यवसायिक भवन भी क्षतिग्रस्त हो गए है। सूचना मिलने के बाद प्रशासन, पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने आली, लांखी और बांजबगड़ पहुंचकर मलबे में दबे सभी शवों को रैस्क्यू कर लिया है। जबकि घाट बाजार में नदी किनारे की 30 दुकानें खाली करवा दी गई है।
घाट ब्लॉक में रविवार देर रात्रि से शुरु हुई बारिश के दौरान सुबह करीब साढ़े चार बजे लांखी गांव में बादल फटाने से आये मलबे में शंकर लाल का आवासीय भवन दब गया। इस घटना में घर में मौजूद शंकर लाल की आठ वर्षीय बेटी आरती और छह वर्षीय अंजली और 24 वर्षीय अजय पुत्र सुरेंद्र लाल निवासी नौरख पीपकोटी की मलबे में दबने से मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद यहां छह घंटे की मशक्कत के बाद स्थानीय ग्रामीणों और एसडीआरएफ ने शवों को दोपहर 12 बजे निकाला जा सका। वहीं इस दौरान बांजबगड गांव में हुए भूस्खन से स्थानीय निवासी अब्बल सिंह के आवासीय भवन का एक हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हो गया। यहां हुई घटना में अब्बल सिंह की 33 वर्षीय पत्नी रुपा देवी और नौ माह की बेटी चंदा मलबे में दब गये। जबकि आली गांव मेंभूस्खलन की चपेट में आने से नैनू राम के भवन क्षतिग्रस्त होने उसकी 20 वर्षीय पुत्री नौरती की भी मौत हो गई है। जबकी घटना में दो गोशालाओं के क्षतिग्रस्त होने से 45 बकरियां, दो गाय व एक बछडा जिंदा दफन हो गये हैं।
वहीं आपदा से यहां लांखी  और बांजबगड़ क्षेत्रों को सप्लाई होने वाली पेयजल लाइनें, पैदल रास्ते और विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिससे गांवों की स्थिति दयनीय बनी हुई है। ग्रामीणों ने प्रशासन से तत्काल गांवों में ग्रामीणों को राहत उपलब्ध कराने और आवासीय व्यवस्था करने की मांग उठाई है।
क्या कहते है अधिकारी
चमोली प्रभारी जिलाधिकारी हंसादत्त पांडे ने बताया कि, “घाट ब्लॉक के लांखी और बांजबगड गांवों में आई आपदा में छह लोगों के शवों को रेस्क्यू कर लिया गया है। साथ ही ग्रामीणों को राहत राशि के साथ ही अन्य दैनिक उपयोगी वस्तुओं की आपूर्ति करवाई जा रही है।”