चार पैडल बोट के साथ 13 साल बाद फिर शुरू हुआ नौका विहार

0
441
नौका

उत्तराखंड के चंपावत जिला स्थित श्यामलाताल में 13 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद अब फिर एक बार नौका विहार का पर्यटक आनंद उठाएंगे। वर्तमान में इस नौका विहार में 4 पैडल बोट तैनात की गई हैं।

अच्छी बात यह है कि नौका विहार के संचालकों को पर्यटन विभाग की ओर से आईटीबीपी के अकादमी टिहरी में जिला योजना के तहत प्रशिक्षित किया गया है। कुल 18 प्रतिभागियों को प्रशिक्षण के लिए आईटीबीपी अकादमी, टिहरी भेजा गया था, जिनमें से 14 ने अपना प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया।

इसके बाद वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 3 लाभार्थियों को अनुदानित वित्त प्रदान किया गया। बाद में इन संचालकों को विभाग की ओर से नौका विहार गतिविधियों के लिए परमिट जारी किया गया है। साथ ही पर्यटकों और नाव संचालकों की सुविधा के लिए पर्यटन विभाग ने वर्तमान जिला योजना के तहत श्यामलाताल में एक जेट्टी भी स्थापित की है। इसी तरह की पहल कोलीधेक झील में भी चल रही है। इस नौका विहार के शुरू होने से चंपावत आने वाले पर्यटकों को और लुत्फ उठाने का मौका मिलेगा।

सचिव पर्यटन सचिन कुर्वे ने नौका विहार योजना के शुरू होने पर खुशी जाहिर की। पर्यटन सचिव ने कहा कि उत्तराखंड खासकर चंपावत आने वाले पर्यटकों को इस नौका विहार के शुरू होने से काफी रोमांच मिलेगा। नौका विहार के अलावा श्यामलाताल में जल्द ही जिप लाइन और जोरबिंग बॉल की गतिविधियां शुरू की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग हमेशा से ही उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पर्यटक स्थलों के साथ-साथ हर तरह की सुविधा मुहैया कराने के लिए भी तत्पर है।