केदारनाथ यात्रा में 75 हजार श्रद्धालुओं को दी स्वास्थ्य सेवा

0
29
Representational image: Health camp
रुद्रप्रयाग, स्वास्थ्य विभाग की ओर से केदारनाथ यात्रा में अब तक 75 हजार यात्रियों को आकस्मिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान की गई है, जिसमें 39 यात्रियों को हवाई सेवा की सुविधा मिली।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एसके झा ने बताया कि, “केदारनाथ यात्रा के तहत अब तक 75 हजार यात्रियों को आकस्मिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान की गईं है। केदारनाथ धाम के अधिक ऊंचाई पर होने के कारण श्वास संबंधी बीमारी के उपचार के लिए पैदल मार्ग पर अवस्थापित सभी 12 चिकित्सा राहत केंद्रों ऑक्सीजन कन्सट्रेटर से लैस करने के साथ, ऑक्सीजन की पर्याप्त सुविधा की गई है। इसके तहत अब तक 1,598 यात्रियों को ऑक्सीजन सेवा प्रदान की गई है।”
उन्होंने बताया कि केदारनाथ धाम में बारिश और बर्फवारी के दृष्टिगत मरीजों को हाॅइपोथर्मिया की शिकायत होने की आशंका रहती है। इसके मद्देजनर जंगलचट्टी से केदारनाथ तक अवस्थापित चिकित्सा इकाइयों में वार्म रूम बनाए गए हैं, जिसमें अब तक 1569 यात्रियों को चिकित्सा सेवा प्रदान की गई है। त्वरित राहत सेवा की आवश्यकता के दृष्टिगत अब तक 39 मरीजों को हवाई सेवा सुविधा का लाभ भी दिया गया है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एसके झा ने बताया कि, “स्वास्थ्य विभाग पूर्ण तत्परता से यात्रियों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर रहा है, लेकिन हद्यगति से अब तक 30 व मार्ग दुर्घटना व पहाड़ी से गिरने से पांच यात्रियों की मौत हो चुकी है। जिसमें से 30 मृतकों को शव वाहन की सेवा प्रदान की गई। उन्होंने बताया कि चिकित्सा सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए प्रशासन द्वारा इस वर्ष आठ स्थाई चिकित्सा राहत केंद्रों का निर्माण भी किया गया।”
हेल्थ एडवायजरी भी जारी
यात्रियों को केदारनाथ यात्रा के दौरान स्वास्थ्य देखभाल के लिए स्वास्थ्य विभाग ने हेल्थ एडवायजरी भी जारी की है। इसके तहत यात्रा मार्ग पर 20 हजार लोगों को लीफलेटस वितरित किए गए एवं यात्रा मार्ग पर रुद्रप्रयाग से केदारनाथ तक डिसप्ले बोर्ड स्थापित कर यात्रा प्रारंभ करने से पूर्व स्वास्थ्य जांच करने, पैदल मार्ग पर स्वांस संबंधी दिक्कतों की आशंका के दृष्टिगत ऐहतियातन बरतने, गरम और ऊनी वस्त्र साथ लाने, हृदय, स्वांस, मधुमेह रोग से ग्रसित यात्रियों को आवश्यक स्वास्थ्य सलाह दी गई है।
डाक्यूमेंट्री के जरिए भी स्वास्थ्य सलाह
रुकेदारनाथ यात्रा पर आने वाले यात्रियों को सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से स्वास्थ्य सलाह देने के लिए भी विभाग से हिंदी एवं अंग्रेजी दो भाषाओं में डाॅक्यूमेंट्री बनाई है, जिसके माध्यम से केदारनाथ यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता की जानकारी के साथ-साथ स्वास्थ्य को लेकर आवश्यक एहतियात बरतने की सलाह दी गई है।