उत्तरकाशी में बाजार बंद कर व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

0
190
उत्तरकाशी
FILE

व्यापारियों ने शुक्रवार को बाहरी क्षेत्र से आ रहे लोगों के सत्यापन की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। साथ ही उत्तरकाशी बाजार बंद रखकर अपना विरोध प्रकट किया। कलेक्ट्रेट परिसर में डीएम को ज्ञापन सौंपते हुए व्यापारियों ने धर्म विशेष के लोगों की सत्यापन जांच के साथ ही उनकी गतिविधियों पर पैनी नजर रखने की मांग उठाई।

शुक्रवार को उत्तरकाशी में दुकानों को बंद रखते हुए व्यापारी बड़ी तादाद में हनुमान चौक पर एकत्रित हुए। इसके बाद जुलूस की शक्ल में चौराहे से गंगोत्री राजमार्ग होते हुए कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे और नारेबाजी की।

इस दौरान व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में कहा कि विगत कुछ समय से बाहरी राज्यों से आने वाले धर्म विशेष के लोगों द्वारा पहाड़ की भोली-भाली बहू-बेटियों को, पहचान छुपाकर बहला फुसलाकर अपने साथ भगाकर ले जाने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। इसका हालिया उदाहरण पुरोला में हुई घटना है, जिसमें एक स्थानीय नाबालिक को दो लोगों ने भगाने का प्रयास किया। ऐसी ही घटना विकासनगर में हुई है। ऐसी घटनाओं से यहां स्थानीय जनता में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। इससे पहले की यह आक्रोश और अधिक बढ़े, प्रशासन को बाहर से आने वाले इस तरह के अराजक तत्वों पर रोक तत्काल लगानी चाहिए।

ज्ञापन में कहा कि बाहर से आने वाले लोगों का गहनता से पुलिस सत्यापन करवाए। साथ ही व्यापारियों ने कहा कि नगर पालिका बालाघाट क्षेत्र के अंतर्गत रामलीला मैदान में फड़, ठेलिया, गन्ना के जूस लगाए जाने से रामलीला मैदान सहित बाजारों से अतिक्रमण की बाढ़ सी गई है, जिसको तत्काल हटाया जाए।