नीती घाटी को जोड़ने वाला क्षतिग्रस्त पुल बन कर तैयार, वाहनों की आवाजाही शुरू

0
187
नीती

सीमांत क्षेत्र नीती घाटी को जोड़ने वाला गिर्थी नदी पर बना पुल वेली ब्रिज को यातायात के लिए खोल दिया गया है। सीमा सड़क संगठन के शिवालिक परियोजना के चीफ इंजीनियर प्रसन्ना जोशी ने वेली ब्रिज का निरीक्षण कर इसे सुरक्षा मामले में जांच के बाद क्लीन चिट दी। इसके बाद पुल से यातायात शुरू करने को कहा।

16 अप्रैल को मलारी के पास बुंराश नामक स्थान पर गिर्थी नदी पर बना पुल मलबे से लदे ट्रक के गुजरने के दौरान टूट गया था। बीआरओ ने तब दो दिनों के अंदर अस्थाई रास्ता बनाकर आवाजाही शुरू कर दी थी, लेकिन पानी बढ़ने के साथ यहां वाहनों की आवाजाही बाधित हो रही थी। इससे नीती घाटी के लोग अपने घरों को लौटने के दौरान यहां पर फंस रहे थे। बीआरओ ने वेली ब्रिज बनाने का कार्य शुरु करते हुए वेली ब्रिज को रिकॉर्ड 17 दिनों में सुचारू कर दिया है। शिवालिक परियोजना के चीफ इंजीनियर प्रसन्ना जोशी ने वेली ब्रिज से टेस्टिंग के लिए भारी वाहन की आवाजाही कराई। इस दौरान तकनीकी जांच कर सुरक्षित मानते हुए वाहनों की आवाजाही सुचारू करने के निर्देश स्थानीय अधिकारियों को दिए गए।