बुली बाई ऐप में उत्तराखंड से तीसरी गिरफ्तारी

0
203
नाबालिग

देश में चर्चा का केंद्र बना बुली बाई एप उत्तराखंड से जुड़ा होने के कारण विशेष चिंता का केंद्र है। इस मामले में मुंबई पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई से दो गिरफ्तारियां हुई है, जिसके कारण उत्तराखंड में हड़कंप है। पहली गिरफ्तारी बेंगलूरू से हुई और दो गिरफ्तारियां उत्तराखंड से हो चुकी है।

बुधवार तक कुल तीन गिरफ्तारियां हुई है। मुंबई पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया मयंक दिल्ली के एक कॉलेज का बीएसएसी का छात्र है। उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता डीआईजी सेंथिल अबुदई ने बुधवार को बताया कि बुली बाई एप में पोस्ट डालने के आरोप में कोटद्वार के मयंक रावत को मुंबई पुलिस की साइबर टीम ने गिरफ्तार किया है और इस मामले में उत्तराखंड से सहयोग मांगा था।

आरोपित मयंक को न्यायालय में पेश करने के बाद ट्रांजिट रिमांड में लिया जाएगा। डीआईजी सेंथिल अबुदई ने बताया कि बुली बाई एप में पोस्ट डालने के आरोप में गिरफ्तार किए गए कोटद्वार निवासी मयंक रावत को मुंबई पुलिस अपने साथ ले जाएगी। उन्होंने बताया कि बुली बाई एप मामले में उधम सिंह नगर के रुद्रपुर से एक युवती और कोटद्वार से मयंक रावत नाम के छात्र की गिरफ्तारी के साथ-साथ अन्य किसी भी तरह की कार्रवाई के लिए मुंबई पुलिस को हर तरह का सहयोग देने के लिए राज्य पुलिस के सभी थाना चौकी को निर्देशित किया गया है।

इस संदर्भ में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का कहना है कि रुद्रपुर से गिरफ्तार युवती गरीब परिवार से है और कोरोना काल में उसके पिता का निधन हो गया था। ऐसे में प्रतीत होता है कि युवक ने पैसों के लालच में इस तरह की गतिविधियों में शामिल हुई।