उत्तराखंड से ‘बुली बाई’ एप मामले में एक और युवक गिरफ्तार

0
43
आइपीएल

मुंबई पुलिस ने ‘बुली बाई’ एप मामले में मंगलवार देर रात पौड़ी जिले के कोटद्वार नींबूचौड़ इलाके से एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आगे की कार्रवाई के लिए आरोपित युवक को लेकर मुंबई रवाना हो गई है। इस प्रकरण में उत्तराखंड में यह दूसरी गिरफ्तारी है। गिरफ्तारी के बाद अब उत्तराखंड पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ गई है।

मुंबई पुलिस साइबर सेल ने ‘बुली बाई’ एप मामले में बेंगलुरु के एक 21 वर्षीय युवक को गिरफ्तार करने के बाद मुख्य आरोपित एक महिला काे मंगलवार को उधमसिंहनगर जिले के रुद्रपुर से गिरफ्तार किया था। इसके बाद मंगलवार को मुंबई पुलिस कोटद्वार पहुंची। आराेपित युवक की लोकेशन पता करने के बाद रात के करीब डेढ़ बजे कोटद्वार पुलिस के सहयोग से उस आराेपित युवक के राजेंद्र नगर कालोनी शिब्बूनगर स्थित आवास पर छापा मारा गया।

इसके बाद आरोपित युवक मयंक रावत पुत्र प्रदीप रावत को गिरफ्तार कर लिया गया। बुधवार सुबह युवक का मेडिकल और कोरोना रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने के बाद उसकी कोर्ट से ट्रांजिट रिमांड लेकर पुलिस मुंबई ले गई है।

आरोपित युवक दिल्ली के जाकिर हुसैन कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है। आरोपित युवक और ऑनलाइन क्लासेज की वजह से अपने घर कोटद्वार आया हुआ था। पुलिस के मुताबिक,जम्मू में तैनात सैन्य कर्मी का बेटा एप मामले में आरोपित है। दोनों आरोपित एक दूसरे को पहले से ही जानते थे।

पौड़ी जिले के एसएसपी यशवंत सिंह ने युवक की गिरफ्तारी के बारे में बताया कि मुंबई पुलिस ने कोटद्वार में एक युवक की गिरफ्तारी की है। मोबाइल की लोकेशन को ट्रेस करते हुए मुंबई पुलिस कोटद्वार पहुंची थी। युवक पर आरोप हैं कि वह ‘एप’ के लिंक शेयर करता था। मुंबई पुलिस युवक को कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड की तैयारी में जुटी हुई है।

इससे पहले मंगलवार को उत्तराखंड में महाराष्ट्र पुलिस ने ‘बुली बाई’ एप मामले में 18 वर्षीय एक युवती को रुद्रपुर से गिरफ्तार किया था। आरोपित युवती पर एप के माध्यम से चर्चित मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर अपलोड कर नीलामी करने का आरोप है। महाराष्ट्र पुलिस ने युवती को कोर्ट में पेश कर पांच दिन का रिमांड लिया है।

रुद्रपुर एसपी सिटी ममता बोहरा का कहना है कि इस मामले में बेंगलुरु के इंजीनियरिंग के एक छात्र की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र पुलिस की एक टीम मंगलवार को रुद्रपुर पहुंची थी।स्थानीय पुलिस को जानकारी देने के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने रुद्रपुर आदर्श कॉलोनी वार्ड-14 की रहने वाली युवती श्वेता सिंह के आवास पर दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपित युवती से पुलिस ने दो मोबाइल बरामद किए हैं। युवती को रिमांड पर लेने के बाद पुलिस आज महाराष्ट्र के लिए रवाना हो गई।

महाराष्ट्र पुलिस के मुताबिक, मामले की मुख्य आरोपित यह युवती ‘बुली बाई’ एप से जुड़े तीन सोशल मीडिया अकाउंट हैंडल कर रही थी। फिलहाल उसके एक ही अकाउंट के बारे में जानकारी मिली है। बताया जा रहा है कि ट्विटर के जरिए उसने समुदाय विशेष की महिलाओं की बोली लगवाई थी।

युवती से की गई पूछताछ से मालूम हुआ कि लड़की के पिता आनंदपाल सिंह अकामाय सोलर नामक कंपनी रुद्रपुर में कार्यरत थे। उनकी मई 2021 में कोरोना के कारण मृत्यु हो गई है। माता का देहांत वर्ष 2011 में कैंसर से हो गया था।

इसमें मनीषा बीकॉम तृतीय वर्ष वर्ष कॉलेज रुद्रपुर,श्वेता सिंह स्वयं रेनबो स्कूल से इंटर पास करके परीक्षा की तैयारी कर रही है जबकि छोटी बहन योगिता सिंह नवोदय में कक्षा दसवीं में अध्यनरत है। उसका छोटा भाई यशपाल रेनबो स्कूल में कक्षा 8 में अध्यनरत है। आरोपित रेनबो स्कूल से इंटर पास कर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही है। इनके घर का खर्चा वात्सल्य योजना के तहत 3000 और अकामाय कंपनी से लगभग 10,000 इन्हें मिलता है।

जानकारी के अनुसार श्वेता सिंह ट्विटर में नेपाली लड़के गियौ की दोस्ती हुई, जिसके द्वारा अपना टि्वटर अकाउंट छोड़ने की बात कहकर श्वेता सिंह का फेक अकाउंट बनाने को कहा गया और उसका लॉग इन आईडी मांगा गया था। इसके माध्यम से श्वेता सिंह के infinitude07 ट्विटर अकाउंट को परिवर्तित कर @khalsa7 नाम से नया अकाउंट बना दिया गया। उक्त अकाउंट के माध्यम से ‘बुली बाई’ में मुस्लिम महिलाओं की बोली कार्रवाई गई। उक्त प्रकरण में बेंगलुरु से विशाल (उम्र 21 वर्ष) नामक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि बीती एक जनवरी को आरोपित युवती और बुली बाई एप ग्रुप के सदस्यों ने मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर नीलामी के लिए पोस्ट की थी।