किस राज्य से कितने चेहरे हुए मोदी सरकार के नए मंत्री मंडल में शामिल

0
48
नई दिल्ली, लोकसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत के अनुरूप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी दूसरी पारी के नये मंत्रिमंडल में 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों को जगह दी है। प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार में हर संभव अधिक से अधिक सूबों को प्रतिनिधित्व देने का प्रयास किया है।
मोदी सरकार के नए मंत्रिमंडल में इस बार देश के सबसे बड़े सूबे उत्तरप्रदेश से प्रधानमंत्री समेत 9 चेहरों को जगह मिली है। इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, मुख्तार अब्बास नकवी व डॉ महेंद्र नाथ पांडे को केंद्रीय मंत्री बनाया गया है। साथ ही वीके सिंह, साध्वी निरंजन ज्योति, संजीव बाल्यान को राज्यमंत्री जबकि संतोष गंगवार स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री बनाए गए हैं।
इस बार महाराष्ट्र के 8 चेहरों को शामिल किया गया है। इनमें नितिन गडकरी, अरविंद सावंत, प्रकाश जावड़ेकर व पीयूष गोयल कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं। जबकि राव साहब दानवे, संजय शामराव, वी मुरलीधरन व रामदास आठवले को राज्य मंत्री बनाया गया है।
बिहार के छह चेहरों में रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह व रामविलास पासवान को कैबिनेट मंत्री बनाया गया। साथ ही आरके सिंह को स्वतंत्र प्रभार का राज्यमंत्री व अश्वीनी कुमार चौबे तथा नित्यानंद राय को राज्यमंत्री बनाया गया है।
पंजाब से हरसिमरत कौर बादल कैबिनेट मंत्री तो सोमप्रकाश राज्यमंत्री के तौर पर दो बड़े चेहरे हैं। गुजरात से तीन चेहरों को शामिल किया गया है जिसमें अमित शाह कैबिनेट मंत्री, पुरुषोत्तम रुपाला राज्यमंत्री तथा मनसुख मंडाविया स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री हैं।
असम से राज्यमंत्री के तौर पर रामेश्वर तेली तथा अरुणाचल प्रदेश से किरण रिजिजू स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री के रूप में पूर्वोत्तर के प्रमुख चेहरे हैं। तेलंगाना में चार लोकसभा सीट जीतने का कमाल करने की वजह से वहां के भाजपा नेता जी. किशन रेड्डी को राज्यमंत्री बनाया गया है।
छत्तीसगढ़ से रेणुका सिंह सरूता को राज्यमंत्री बनाया गया है। गोवा से श्रीपद नाइक स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री बनाए गए। जबकि केरल से वी. मुरलीधर को राज्यमंत्री बनाया गया है।
उत्तराखंड को इस बार कैबिनेट में प्रतिनिधित्व देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पहली बार केंद्रीय मंत्री बनाया गया है। इसी तरह हरियाणा को सभी 10 लोकसभा सीटें भाजपा के खाते में डालने का इनाम देते हुए तीन मंत्री पद दिए गए हैं। स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री के रूप में राव इंद्रजीत सिंह के अलावा कृष्णपाल गुर्जर और रतनलाल कटारिया राज्यमंत्री बनाए गए हैं।
पश्चिम बंगाल में भाजपा की जबरदस्त कामयाबी के बाद मंत्रिपरिषद में दो चेहरों बाबुल सुप्रियो और देबाश्री चौधरी को राज्यमंत्री बनाया गया है। ओडिशा से धर्मेंद्र प्रधान कैबिनेट मंत्री और प्रताप चंद्र सारंगी राज्यमंत्री के दो चेहरे सरकार का हिस्सा बने हैं। जबकि हिमाचल प्रदेश से अनुराग ठाकुर को राज्यमंत्री बनाया गया है।
राजधानी दिल्ली से इस बार केवल हर्षव‌र्द्धन एकमात्र चेहरा हैं। राजस्थान से गजेंद्र सिंह शेखावत को कैबिनेट मंत्री जबकि कैलाश चौधरी और अर्जुन राम मेघवाल को राज्यमंत्री बनाया गया है।
इसके अलावा मध्यप्रदेश से पांच, कर्नाटक से चार, झारखंड से दो और जम्मू-कश्मीर से एक चेहरे को मोदी सरकार के नए मंत्री मंडल में शामिल किया गया है।