उत्तराखंड : हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हिंसा के बाद स्थिति नियंत्रण में, शासन ने दिए मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश

    0
    95

    उत्तराखंड के नैनीताल जिला स्थित हल्द्वानी के बनभूलपूरा में हिंसा के बाद हुई तनावपूर्ण स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है। यह पूरा क्षेत्र पुलिस और आईटीबीपी के हवाले है। कर्फ्यू के क्षेत्र की सीमा में आज जहां सुबह से संशोधन किया गया है वहीं पुलिस ने 19 नामजद सहित हजारों अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। इस घटना में शामिल उपद्रवियों को चिन्हित कर राज्य सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई करेगी। घटना के बाद से राज्य भर में हाई अलर्ट जारी कर दिया किया गया है।शासन ने कुमाऊं आयुक्त को हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुई घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं।

    नैनीताल की जिलाधिकारी वंदना की ओर से जारी आदेश में क्षेत्र की वर्तमान परिस्थितियों का संज्ञान लेते हुए उक्त कर्फ्यू के क्षेत्र की सीमा में संशोधन करते हुए सीमित किया गया है। अब नगर निगम, हल्द्वानी क्षेत्रान्तर्गत सम्पूर्ण बनभूलपुरा क्षेत्र (आर्मी कैंट (वर्कशॉप लाइन भी सम्मिलित) तिकोनिया- तीनपानी-गौलापार बाइपास की परिधि के अन्तर्गत क्षेत्र को सम्मिलित करते हुए) पूर्णत: बन्द (कर्फ्यू) लागू रहेगा। नैनीताल-बरेली मोटर मार्ग पर वाहनों का आवागमन एवं व्यापारिक प्रतिष्ठान प्रतिबन्ध से मुक्त रहेंगे। यह आदेश 10 फरवरी प्रातः 10 बजे से अग्रिम आदेशों तक लागू रहेगा।

    इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 188 के अन्तर्गत कार्रवाई की जायेगी। इस आदेश की सूचना ध्वनि विस्तारक यंत्र से हल्द्वानी क्षेत्रान्तर्गत दी जाये और आदेश की एक प्रति कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर पुलिस थाना एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों पर चस्पा की जाये।

    कोई भी व्यक्ति अत्यावश्यक कार्यों (मेडिकल इत्यादि) को छोड़कर घर से बाहर नहीं निकलेंगे।सभी व्यावसायिक संस्थान/ दुकानें/ उद्योग इत्यादि पूर्णतः बन्द रहेंगे। केवल हॉस्पिटल व मेडिकल दुकानें खुली रहेगी।यह आदेश शासकीय सेवक, पुलिस कर्मी, सशस्त्र बल पर लागू नहीं होगा। अत्यावश्यक कार्यों के लिए ही नगर मजिस्ट्रेट, हल्द्वानी की अनुमति से यातायात की अनुमति रहेगी।

    उत्तराखंड पुलिस के प्रवक्ता नीलेश आनंद भरणे ने शनिवार को दूरभाष पर बातचीत में बताया कि अभी तक बनभूलपुरा हिंसा में मरने वाले की कुल संख्या पांच है। हल्द्वानी शहर में हुई हिंसा में कुल 03 मुकदमों में 19 नामजद समेत अन्य हजारों अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। बनभूलपुरा क्षेत्र में शांत व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्र को 07 सुपर जोन में मजिस्ट्रेट और अधिकारियों की तैनाती की गई है।

    इस संवेदनशील मामले को लेकर अफवाह से स्थिति न बिगड़े, इसके लिए हल्द्वानी शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा गुरुवार से बंद कर दी गई है। टेलीकाम आपरेटर्स सेवाएं आज (शनिवार) को भी बाधित रहेंगी। हल्द्वानी के शिक्षा खंड अधिकारी हरेंद्र मिश्र की ओर से शहर के स्कूलों को आज भी बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। शासन ने इस घटना के लिए कुमाऊं आयुक्त को मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं।

    इसके अलावा यूओयू यानी उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय ने भी आज हल्द्वानी, लालकुआं और रामनगर केंद्र पर प्रस्तावित परीक्षाएं भी एहतियातन स्थगित कर दी हैं। इसके अलावा जवाहर नवोदय विद्यालय नैनीताल की हल्द्वानी के केंद्रों में होने वाली कक्षा नौ और ग्यारहवीं की प्रवेश परीक्षा भी स्थगित कर दी गई हैं। रामनगर में भी स्कूल बंद रहेंगे। रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए हल्द्वानी और काठगोदाम से संचालित होने वाली सभी ट्रेनों को शुक्रवार को लालकुआं से चलाया गया।

    अपर पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) एपी अंशुमान ने सभी एसएसपी और एसपी को अपने-अपने जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लगातार निगरानी रखने के निर्देश दिये गये हैं। इंटरनेट और मीडिया सेल को भी अलर्ट पर रहने को कहा गया है।

    जिलाधिकारी ने हल्द्वानी में कानून एवं शांति व्यवस्था की स्थिति को सामान्य बनाने के लिये हल्द्वानी को 7 सेक्टरों में बांट दिया है। इनकी जिम्मेदारी एसडीएम स्तर के अधिकारियों को दे दी है। केएमवीएन के एमडी एपी बाजपेयी को ताज सुपर जोन-1,एसडीएम नैनीताल प्रमोद कुमार को सुपर जोन-2, तुषार सैनी को सुपर जोन-3, कृष्ण नाथ गोस्वामी को सुपर जोन-4, विपिन पंत को सुपर जोन-5, ऋचा सिंह को संपूर्ण नगर औरत परितोष वर्मा को संपूर्ण परगना का सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। यह सभी एडीएम शिवचरण द्विवेदी के निर्देशन में कार्य करेंगे।

    बनभूलपुरा में हुई घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश-

    जनपद नैनीताल के हल्द्वानी शहर के थाना बनभूलपुरा एवं निकटवर्ती क्षेत्रों में हुई घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत शासन ने आयुक्त, कुमायूं मण्डल की ओर से मजिस्ट्रेट जांच आदेश दिए हैं। इस संबंध में मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने आदेश जारी करते हुए आयुक्त को घटना की निष्पक्ष मजिस्ट्रेट जांच 15 दिवस के भीतर सम्पादित करते हुए तत्संबंधी जांच आख्या शासन को उपलब्ध कराने काे निर्देशित किया है।

    हल्द्वानी में कर्फ्यू क्षेत्र छोड़कर अन्य स्थानों में गैस आपूर्ति सुचारु-

    हल्द्वानी में कर्फ्यू क्षेत्र छोड़कर अन्य स्थानों में गैस आपूर्ति सुचारू है। इंटरनेट बंद होने के चलते उपभोक्ता मोबाइल काल से गैस बुकिंग कर सकते हैं। कुमाऊं मंडल विकास निगम के महाप्रबंधक एपी वाजपेई ने बताया है कि हल्द्वानी में कर्फ्यू क्षेत्र छोड़कर अन्य स्थानों में गैस आपूर्ति सुचारु है। इंटरनेट बंद होने के चलते उपभोक्ता गैस एजेंसी में सीधे संपर्क कर गैस बुकिंग कर सकते हैं। उन्होंने ऑनलाइन गैस बुकिंग इंटरनेट बंद होने के चलते प्रभावित है, जब तक यह व्यवस्था लागू रहेगी तब तक उपभोक्ता मोबाइल काल के माध्यम से वह एजेंसी से संपर्क कर गैस बुकिंग कर सकते हैं।

    कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से की भेंट –

    कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन मेहरा के नेतृत्व में इंडिया गठबंधन के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने राजभवन, देहरादून में राज्यपाल रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह से मुलाकात की है। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को एक ज्ञापन प्रेषित किया है। ज्ञापन के माध्यम से हल्द्वानी हिंसा की न्यायिक जांच कराने की मांग की गई है। इसके साथी नैनीताल जिले के जिलाधिकारी और एसपी को तत्काल निलंबित करते हुए पद से हटाए जाने की भी मांग की गई है। वही ज्ञापन में राज्य सरकार के अतिक्रमण हटाओ अभियान पर भी सवाल खड़े किए गए हैं।