नैनीताल नगर पालिका के सभासदों का इस्तीफा

0
84
कोरोना

नैनीताल नगर पालिका के सभी निर्वाचित एवं तीन नामित सभासदों सभासदों ने इस्तीफा दे दिया। कुमाऊं मंडल के आयुक्त को भेजे गए ज्ञापन में नगर पालिका के निर्वाचित सभासद सागर आर्य, सुरेश चंद्र, निर्मला चंद्रा, रेखा आर्य, भगवत रावत, गजाला कमाल, मनोज साह जगाती, कैलाश रौतेला, दया सुयाल, राजू टांक, मोहन सिंह नेगी व प्रेमा अधिकारी, मनोनीत सभासद मनोज जोशी, तारा राणा और राहुल पुजारी के हस्ताक्षर हैं।

ज्ञापन में त्यागपत्र देने का कारण विभिन्न स्तरों पर हो रही उपेक्षा को बताया गया है। सभासद मनोज साह जगाती ने कहा कि कुछ सभासद नगर से बाहर हैं। उन्होंने भी इस मुहिम में साथ होने की बात कही है। वहीं नगर पालिका के अध्यक्ष सचिन नेगी का फोन स्विच ऑफ मिला। अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने त्यागपत्र देने की जानकारी से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि यदि त्यागपत्र दिया गया होगा तो उसे बोर्ड बैठक में रखा जाएगा।

मंडलायुक्त को भेजे पत्र में सभासदों का कहना है कि जनता द्वारा निर्वाचित जनप्रतिनिधि होने के बावजूद नगर पालिका, उत्तराखंड शासन तथा प्रशासन एवं सीएम हेल्पलाइन पर की गई शिकायतों पर संज्ञान नहीं लिया जाता और कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। शिकायतों का समाधान करने की जगह उल्टे तथ्यों को छुपाने की चेष्टा की जाती है। स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, गांधी जयंती जैसे राष्ट्रीय कार्यक्रमों आदि से संबंधित बैठकों में उन्हें आमंत्रित नहीं किया जाता है। नैनीताल नगर पालिका के कर अधीक्षक, कर निरीक्षक एवं लेखाकार का स्थानांतरण कर दिया गया है, परंतु इन पदों पर नई तैनातियां नहीं की गई है। इससे जनहित के कार्यों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इससे ऐसा लगता है कि संवैधानिक पद होने के बावजूद नैनीताल नगर पालिका में इस पद की आवश्यकता नहीं है, इसलिए वे तत्काल प्रभाव से जनहित में स्वैच्छिक त्यागपत्र देने को बाध्य हैं।