पंजाब जेल हमले का गहरा होता उत्तराखंड कनेक्शन

0
562

पंजाब के नाभा में दिनदिहाड़े जेल पर हुए हमले और कैदियों को फरार कराने की साजिश के तार उत्तराखंड से जुड़ते ही जा रहे हैं।दो दिन पहले ही देहरादून पुलिस ने राजधानी के एक घर  में छापेमारी कर के दो लोगों को गिरफ्तारकिया था। इस छापेमारी से ये बात सामने आई थी नाभा जेल में हुए हमले की साजिश देहरादून में रचि हो सकती है। वहीं इस मामले में एक और मोड़ बुधवारको उस समय आया जब पुलिस को रुड़की के पास एक थैले में से पंजाब पुलिस की वर्दी और अन्य सामान मिला। नारसन के मोहम्मदपुर के पास नारसन पिलिस कोएक बैग मिला। इस बैग की तलाशी लेने पर इसमें से पंजाब पुलिस की दो वर्दियां जिसमें से एक पर एच.सी.पी बलवंत और दूसरी पर हरजीत सिंह का नेम प्लेट लगा हुआ था। साथ ही पुलिस की दो बैल्ट, चार साफे भी बरामद हुए।

मामले की नजाकत को देखते हुए उत्तराखंड पुलिस की हरिद्वार एसओजी की एक टीम को पंजाब रवाना कर दिया गया ताकि मामले की जल्द तह तक पहुंचा जा सके। पुलिस इस बरामदगी को पंजाब जेल हमलों से जोड़ कर छानबीन कर रही है। इसके चलते रुड़की और हरिद्वार में नाकेबंदी कर के तलाशी अभियान चल रहा है।

गौरतलब है कि सोमवार को देहरादून में हुई छापेमारी में पुलिस टीम को घर के अन्दर हथियार बनाने की सामाग्री मिली जिसमें  एक प्लास्टिक के डब्बे में 10 राउण्ड 7.62 एम0एम0 मिले, सैल, लौहे की गोलियां, मोबाईल फोन, इयर फोन और चार्जर, लौहे की रॉड, हथियारों को साफ करने के लिए फुलतुरू व ब्रुश, पेचकस, पलास, चिंदी, इलैक्टरौनिक कोम्पेक्ट स्केल (वजन मापने के लिए), ग्रिरिस आदि सामाग्री बरामद की गई, गुरविंदर के कमरे से सामान प्राप्त होने से ये साफ हो गया है कि वहां किसी बड़ी साजिश की तैयारी की गई है और आगे भी किसी बड़ी साजिश की तैयारी हो रही थी। इसके अलावा गुरविन्दर के कमरे से एक गत्ते के डब्बे में भारतीय निर्वाचन आयोग के प्लेन प्लास्टी आई0डी0 कार्ड-03 तथा, बिना प्रिंट हुए आधार कार्ड-123 मिले।इस मामले में पुलिस ने आदित्य  और गीता नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले में फरार हुए गीता के पति सुनील की तलाश जारी है।