पुलिसकर्मी बरत रहे सख्ती, साथ ही कर रहे निर्बलों की मदद

    0
    71
    कोरोना विषाणु के संक्रमण के कारण नैनीताल पुलिस लॉक डाउन को लागू करने के लिए सख्ती बरतने के साथ निर्बलों की मदद भी कर रही है।
    बुधवार को नैनीताल पुलिस ने सुबह सात से 10 बजे के बीच बाजार में बिना मास्क पहने आए लोगों पर हल्की लाठियां भी फटकारीं और चीना बाबा चौराहे के पास लॉक डाउन के बीच भी सड़क पर आए कुछ लोगों के हाथ में ‘हम समाज के दुश्मन हैं, हम घर पर नहीं बैठेंगे, हम नहीं मानेंगे’ लिखे पोस्टर थमाए, वहीं तल्लीताल में माल रोड पर निर्बल वर्ग के लोगों को सब्जी व रोटी भी बांटी।
    वहीं एडीजी (कानून), अशोक कुमार ने ने कहा है कि पुलिस कर्मियों पर यह जिम्मेदारी है कि वो कानून लागू करें लेकिन किसी तरह की बेजाह सख्ती से बचते हुए। इसके साथ ही उन्होने आम लोगों से भी अपील की है कि वो भी अपने घरों में रहे और पुलिस और प्रशासन की कोरोना वायसरस से लड़ने में मदद करें।
    उत्तराखंड में 335 ने किया लॉक डाउन का उल्लंघन, गिरफ्तार
    कोरोना वायरस (कोविड 19) संक्रमण से बचाव के मद्देनजर उत्तराखंड में लागू लॉक डाउन का उल्लघंन करने पर बुधवार को प्रदेश में कुल 51 मुकदमे पंजीकृत किए गए। इनके तहत  335 लोगों को गिरफ्तार किया गया। यह जानकारी उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय (मीडिया सेल) ने दी।
    इधर, लाॅक डाउन के तीसरे दिन पुलिस ने देहरादून के नगर और देहात क्षेत्र के सभी थाना क्षेत्रों में कड़ाई के साथ लॉक डाउन आदेश का अनुपालन कराया गया। इस दौरान विभिन्न स्थानों पर लगाए गए बैरियर्स पर बाहर निकलने वाले वाहनों में सवार व्यक्तियों से आवश्यक पूछताछ की गई। साथ ही अनावश्यक रूप से शहर में घूमते हुए आदेशों की अवज्ञा करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध जिला पुलिस ने सख्त कार्रवाई की।
    देहरादून जिला प्रशासन ने लाॅक डाउन के दृष्टिगत जारी आदेशों का उल्लंघन करने वाले 24 व्यक्तियों के विरुद्ध भारतीय दंड विधान की धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए अलग-अलग थानो में अभियोग पंजीकृत किए हैं।  इनको थानों से  निजी मुचलकों पर छोड़ा गया।
    इसके अलावा यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले 34 वाहनों का चालान किया गया। साथ ही 11 वाहनों को सीज किया गया। पुलिस ने आम लोगों से अपील की है कि कोरोना वायरस के विरुद्ध जारी इस जंग में अपना सहयोग प्रदान करें। अत्यावश्यक होने पर ही घरों से बाहर निकलें।