हिमालयन हॉस्पिटल ने दिया इस्तकार को नया जीवन

0
28

डोईवाला- एसआरएचयू-हिमालयन हॉस्पिटल के कार्डियो सर्जरी विभाग के चिकित्सकों ने हार्ट की हाई रिस्क सर्जरी कर मोहम्मद इस्तकार को नया जीवन दिया है। चिकित्सकों ने मोहम्मद इस्तकार के हार्ट के एक वॉल्व को बदला जबकि दूसरा रिपेयर किया।

बिजनौर निवासी मो.इस्तकार ह़ृदय की गंभीर से बिमारी से पीड़ित था। उपचार के लिए इस्तकार दून समेत दिल्ली के बड़े हॉस्पिटल के चक्कर लगा चुका था। बावजूद इसके बिमारी बढ़ती ही जा रही थी। परिचितों की सलाह पर हिमालयन हॉस्पिटल के कार्डियो सर्जरी विभाग पहुंचा। कार्डियो सर्जन डॉ.अरत नाहक, डॉ.अक्षय चौहान व डॉ.दीपक ओबरॉय की टीम ने इस्तकार के जरूरी स्वास्थ्य जांच करवाई। रिपोर्ट आने के बाद कॉर्डियो सर्जरी टीम ने इस्तकार की सर्जरी का फैसला लिया। करीब चार घंटे की जटिल सर्जरी के बाद हिमालयन हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने मोहम्मद इस्तकार को नया जीवन दिया। सर्जरी को सफल बनाने में संजय थपलियाल, प्रमोद, अजय, सिमी, नीतीश व सचिन ने सहयोग दिया।

चार घंटे की कार्डियो हाई रिस्क सर्जरी

कार्डियो सर्जन डॉ.अरत नाहक व डॉ.अक्षय चौहान ने बताया कि इस्तकार के जब स्वास्थ्य जांच कराई गई तो उसमें पता चला की उसके हृदय वॉल्व में अत्याधिक लिके है। फेफडों की नसों में शरीर से भी अधिक प्रेशर है। हृदय का आकार जरूरत से ज्यादा फैला हुआ है। ऐसे में सर्जरी करना बेहद हाई रिस्क होता है लेकिन जीवन बचाने के लिए सर्जरी के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था।

अटल अयुष्मान के जरिये निशुल्क सर्जरी
भारत सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक हिमालयन हॉस्पिटल ने अटल आयुष्मान योजना के माध्यम से देशभर में सबसे ज्यादा रोगियों का उपचार किया है। मोहम्मद इस्तकार अपने परिवार में अकेला कमाने वाला है ऐसे में स्वास्थ्य के साथ आर्थिक तंगी से जूझ रहे इस्तकार का उपचार हिमालयन हॉस्पिटल में अटल आयुष्मान योजना के माध्यम से पूरी तरह निशुल्क हुआ।