हादसा: गंगोलीघाट घूमने आई मलेशियन महिला पर्यटक की मौत

0
233

पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट में एक विदेशी महिला पर्यटक की मौत हो गई। मलेशिया से कौसानी घूमने आई महिला पर्यटक पहले से ही बीमार चल रही थी। शनिवार शाम महिला का स्वास्थ्य फिर से बिगड़ गया। पर्यटक के साथी उसे सीएचसी गंगोलीहाट ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस प्रशासन ने विदेशी महिला की मौत की जानकारी दूतावास भिजवा दी है।  डीएम ने सभी साथी विदेशी पर्यटकों से मुलाकात कर मामले की जानकारी ली।

मिली जानकारी के अनुसार  भारतीय मूल की मलेशियाई नागरिक साराला देवी कुलसिंगम (27), आनंदीन गुना शेखरन (31), मलर बिजी बाला सुब्रमणयम (32) और नवीना वदिवॉल (27)  मलेशिया से भारत घूमने आए थे। ये विदेशी पर्यटक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले घूमने पहुंचे हैं। महिला पर्यटक नवीना वदिवॉल की तबीयत पहले से ही खराब चल रही थी थी। साथी पर्यटकों ने बताया कि शुक्रवार को मुनस्यारी जाते वक्त भी नवीना की तबियत खराब हो गई थी। शनिवार को चारों साथी पर्यटक पातालभुवनेश्वरी गए थे। शनिवार रात करीब आठ बजे रिसोर्ट में नवीना की फिर तबीयत बिगड़ हो गई। साथी पर्यटक उसे सीएचसी गंगोलीहाट ले गए। जहां रात 8:50 बजे डॉ़ कुंदन कुमार ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कौसानी से मुनस्यारी जा रही थी घूमने
साथी विदेशी पर्यटकों ने बताया कि दो दिन पूर्व ही चारों चालक देबू छत्री के साथ कौसानी घूमने आए थे। चारों महिलाएं शुक्रवार को कौसानी से बागेश्वर होते हुए मुनस्यारी को निकल गई। थल के पास रास्ता बंद होने के कारण चारों बेरीनाग में ही रुक गईं। वहां भी नवीना की तबियत फिर से खराब हो गई। करीब 3:30 बजे साथी पर्यटक उसे अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने बीमार महिला को अच्छे अस्पताल ले जाने की सलाह देकर दवा दे दी। दवा से आराम होने पर चारों साथी पातालभुवनेश्वर घूमने निकल गए। शाम को महिलाओं ने ठहरने के लिए पार्वती रिसोर्ट में दो कमरे लिए और 6:30 बजे खाने के लिए निकल गए। नवीना ने तबियत खराब होने की बात कहकर खाना खाने से इनकार कर दिया। करीब आठ बजे नवीना की तबियत फिर से बिगड़ गई। साथी उसे सीएचसी गंगोलीहाट ले आए। जहां 8:50 बजे डॉ़ कुंदन कुमार ने उसे मृत घोषित कर दिया। रात करीब 10 बजे पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। थानाध्यक्ष पीआर आगरी ने मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली। रविवार सुबह पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। इसके बाद डीएम सी रविशंकर ने अन्य पर्यटक महिलाओं से बात कर मामले की जानकारी ली।