काम करते तो हार का रिकार्ड न बनाते हरीशः शिवराज

0
431
शिवराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आज पूरी दुनिया कोरोना से बचाव में भारत की भूमिका की सराहना कर रही है। दूसरी ओर कांग्रेस ने लोगों को टीकाकरण पर भ्रमित किया, जबकि कांग्रेस के लोगों ने खुद टीका लगवाया। भाजपा काम करने वाली सरकार है। हरीश रावत काम करने वाले होते तो हार का रिकॉर्ड नहीं बनाते।

शिवराज सिंह ने ज्वालापुर में मीडिया से कहा कि देश में मार्च में कोरोना आया, अप्रैल में टास्क फोर्स बनी। तेजी से टीकाकरण हुआ। कई देशों को टीके का निर्यात किया गया। आज पूरी दुनिया कोरोना से बचाव में भारत की भूमिका कि सराहना कर रही है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड में जारी कांग्रेस के घोषणा पत्र पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कहती है कि यदि वह सत्ता में आई तो पांच लाख परिवारों को हर परिवार 40 हजार रुपये देगी। अगर ऐसा है, तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार है, वहां कितने लोगों को 40 हजार रुपये मिले। शिवराज सिंह ने रोजगार के मुद्दे पर भी कांग्रेस को आडे़ हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की देश में कितने समय तक सरकार रही, लेकिन लोगों को कहां- कितनी नौकरियां मिलीं, आप देख लीजिए।

उन्होंने कहा कि जो लोग जनरल विपिन रावत को सड़क का गुंडा कहते थे, वही लोग आज उनके नाम की तख्तियां उठाए घूम रहे हैं। उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि जो कभी राम के अस्तित्व पर सवाल उठाते थे, वह आज जनेऊ पहन कर मन्दिरों में जाकर पूजा कर रहे हैं। उनकी बहन गंगा स्नान कर रही है।

शिवराज सिंह ने कांग्रेस को केकड़ा पार्टी बताते हुए कहा कि उसमें एक दूसरे की टांग खिंचाई करते रहते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हरीश रावत पर भी तंज कसा और कहा कि वह खुद कई चुनाव हार गए। अगर उन्होंने काम किया होता तो ये हार का रिकार्ड ना बनाते। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार की बात करने का कांग्रेस को कोई हक नहीं, क्योंकि भ्रटाचार मेें उन्होंने रिकार्ड बनाया हुआ है। अपने वक्तव्य के अंत में उन्होंने कहा कि नारे को ना नाम को, वोट हमारे काम को।

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में हमारी कोई टफ फाइट नहीं है। हमारी पहले से भी ज्यादा सीटें आएंगी और फिर से पुष्कर धामी की सरकार बनेगी। तब मैं उनके शपथ ग्रहण में आऊंगा। बढ़ती महंगाई और बढ़ते नशे को लेकर उनसे पूछे गए सवाल पर उन्होंने कोई सीधा जवाब तो नहीं दिया, अलबत्ता इतना कहा कि कांग्रेस का काम केवल आरोप लगाना है। जहां भी कोई इस तरह की शिकायत मिलती है, हमारी सरकार प्रभावी कदम उठाती है।