आल इण्डिया ओपन कैनाईगं व कायकिंग प्रतियोगिता का शुभारंभ 

0
31
रूद्रपुर, प्रदेश के खेल मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार तेजी से कार्य रही है। इसी के तहत सरकार की ओर से 13 डिस्ट्रिक, 13 डेस्टीनेशन योजना चलाई जा रही है। 
यूएस कार्निवाल 2020 के तहत प्रदेश के खेल मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने विभिन्न क्षेत्रों से आये प्रतिभागियों से परिचय प्राप्त कर आल इण्डिया ओपन कैनाईगं व कायकिंग प्रतियोगिता का (पुरूष व महिला वर्ग) का शुभारम्भ हरी झण्डी दिखाकर किया।
शिक्षा मंत्री अरविन्द्र पाण्डेय ने विभिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिभागियों से परिचय प्राप्त करते हुए कहा कि सरकार हरिपुरा बौर जलाशय को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि यहां जो भी पर्यटक आ रहे हैं हम उनसे ‘अतिथि देवो भव’ की धारणा से व्यवहार करें ताकि यहां अधिक से अधिक पर्यटक आ सकें।
उन्होंने कहा कि एक दिन अवश्य विश्व के मानचित्र में बौर जलाशय को अपनी अलग पहचान मिलेगी। भविष्य में अन्तरराष्ट्रीय जल क्रीड़ा प्रतियोगितायें भी बौर जलाशय में कराई जाएंगी। बौर जलाशय की लम्बाई 9.5 किलोमीटर व चौडाई 4.5 किमी है। इसमे सभी तरह की जल क्रीड़ाए कराई जा सकती हैं।
पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा कि बौर जलाशय का निकट भविष्य में बहुत बड़ा नाम होगा। पर्यटकों के आवागमन से स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।
उत्तराखंड  ओलम्पिक एशोसिएशन के महासचिव डीके सिंह ने कहा कि खेल मंत्री के सान्निध्य में उत्तराखण्ड में खेलों के लिए संसाधन बढाए जा रहे हैं। भारतीय कोच फिलिप मैथ्यू ने कहा कि बौर जलाशय में अन्तराष्ट्रीय स्तर की जल क्रीडा प्रतियोगिताएं कराई जा सकती हैं। पांच सौ मीटर की कैनाईगं व कायकिंग प्रतियोगिता में उत्तराखण्ड, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और बंगाल इंजीनियर की टीमों ने भाग लिया।