बारिश से किसानो के चेहरे खिले

0
1088

थैलीसैण/पौड़ी। जनपद पौड़ी गढ़वाल के थैलीसैण क्षेत्र में कई दिनों बाद हुई हल्की बारिश से रबी की फसल व आम जनजीवन को कुछ राहत मिली। वहीं, क्षेत्र में कुछ दिनों से गर्माहट सी शुरू हो गई थी। फायर सीजन को देखते हुए अचानक बारिश होने से वन कर्मियों क़ो कुछ दिनों तक राहत की सांस लेने का मौका भी मिल गया।

शनिवार से क्षेत्र में मौसम काफी मिजाज बदला हुआ था। बारिश के पूरे आसार बने हुए थे, लेकिन शनिवार को आसमान से बारिश की बूंदें भी नहीं टपकी। आसमान में केवल बिजली की गड़गड़ाहट ही सुनाई दी। रात भर आसमान बादलों से पटा रहा। रविवार को प्रांत: काल से ही क्षेत्र में हल्की हल्की हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई। भोर होते ही बारिश ने काफी गति पकडली। हालांकि बारिश की रफ्तार कुछ ही देर तक रही, लेकिन कुछ राहत मिली है। गेहूं, जौ, चना व दाल-तिलहन की फसल सूखने के कगार पर थी। बारिश होने से फसल पर कुछ जान आ जाएगी। वहीं क्षेत्र में सूखी ठंड से भी निजात मिल गई है। काफी दिनों तक वन कर्मियों को भी राहत की सांस लेने को मिल गई है। क्षेत्र के ग्रामीणों का कहना है कि रबी की फसल को समय से पानी नहीं नहीं मिलने से फसल पीली पड़नी शुरू हो गई थी। लेकिन, रविवार को हुई बारिश से कुछ जान मिल गई है। यह बारिश इस फसल के लिए संजीवनी का काम कर गई है। बारिश होने से आम बीमारिया भी कम हो जाएगी। क्षेत्र के जंगल से सटे इलाकों में बारिश काफी देर तक होती रही। बारिश बंद होने पर भी आसमान में बादलों का लुकी छिपी का खेल दिन भर चलता रहा है।