इस गणतंत्र दिवस राजपथ पर उत्तराखंड की शान बढ़ायेगा पंकज सेमवाल

0
596

लगातार दूसरे साल उत्तराखंड के ब्च्चों ने दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कारों में अपना नाम दरज करवाया है। अब तक इस पुरसकार से सम्मानित होने वाले उत्तराखंड से ग्याराह बच्चे हैं और ये लिस्ट हर साल बढ़ती जा रही है।

साल 2018 में इस पुरस्कार को राज्य के पंकज सेमवाल ने पाया है, टिहरी ज़िले के नारागढ़ गांव से रहने वाले पंकज कक्षा 12 का छात्र है, 16 साल के हैं देशभर से चुने गये उऩ 16 बच्चों में शामिल है जिन्हे अदम्य साहस औऱ बहादुरी का परिचय देने के लिये पुरस्कृत किया जायेगा। पंकज को अपनी जान की परवाह न करते हुए अपनी मां को गुलदार के पंजो से बचाने के लिये चुना गया है। पंकज ने गुलदार से लड़ते हुए न केवल बहादुरी बल्कि समझदारी का भी परिचय देते हुुए ये भी सुनिश्चित किया कि उसके भाई-बहन भी गुलदार के शिकंजे से दूर रहें।