मसूरी में विंटर कार्निवल की मचेगी धूम, स्थानिय कलाकारों को मिलेगी तरजीह

0
1119
मसूरी

मसूरी में पांच दिन का विंटर कारनिवल 25दिसंबर से 30 दिसंबर तक मनाया जाएगा। पिछले कुछ दिनों के नोटबंदी और चुनावी माहौल की जद्दोजहद से निकलने का ये मसूरी वासियों के लिये बेहतरीन मौक़ा होगा। इस कार्निवल के अध्यक्ष हमेशा से देहरादून के जिलाधिकारी रहे हैं मगर इस बार कार्निवल के समय आचार संहिता लागू हो सकती है जिसकी वजह से वह इसका संरक्षण नहीं कर पाएंगे इसलिए मसूरी के भूतपूर्व बीएसएफ डी.आई.जी मनोरंजन त्रिपाठी कार्यवाहक अधिकारी के रूप में इस कार्यक्रम का पदभार संभालेंगे, त्रिपाठी ने कहा “य़ह मेरे लिए एक गर्व की बात है की मैं किसी भी ऐसी चीज से जुड रहा हूँ जो मेरे होमटाउन के लिए अच्छा है। मैं आने वाले सभी कार्यों में भाग लेने के लिए बिल्कुल तत्पर हूँ।”

पाँच दिन के कार्यक्रम से पहले उसके विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करने के लिए एक मीटिंग की गई जिसमें यह तय हुआ कि कार्निवल में स्थानीय कलाकारों पर फोकस होगा हालांकि पिछले कुछ सालों में मोहित चौहान और लकी अली जैसे बड़े कलाकारों ने इस उत्सव में प्रदर्शन किया था। मसूरी के होटल व्यवसायी संदीप साहनी जो बहुत सारे व्यव्सथापकों में से एक है वो बताते हैं कि “हमने यह निर्णय लिया कि इसमें आने वाली सभी रुकावटों पर काम किया जाए ताकि, चली आ रही परंपरा टूटे ना और आखिरकार ऐसा ही हुआ उत्सव की तैयारियों अब अंतिम चरण में है।”

पिछले साल इस कार्यक्रम में माल रोड पर गढ़वाली फूड स्टाल स्थानीय लोग व पर्यटकों के बीच एक हिट साबित हुआ था जिसमें आलू जखिया, मंडवा रोटी,पकौड़ीयों से लेकर झंगोरा खीर एक बार फिर लोगों के बीच आ सकती है। जबकि अधिकारियों और स्थानीय लोग इस काम में जुटे हैं कि तैयारी में कोई कमी ना रह जाए। होटल मालिक एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय अग्रवाल बताते हैं कि “शहर को आने वाले उत्सव के लिए ऐसे तैयार किया जा रहा जैसे एक भी कोना बिना सजाए ना छूटे, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आएं, और होटलों में हमेशा की तरह 50 प्रतिशत के बजाए 60 प्रतिशत की छूट दी जा रही है।”

नवंबर से देशभर मे लागू हुई नोटबंदी का उत्तराखंड के पर्यटन और ख़ासतौर पर होटल व्यवसाय पर खासा असर पड़ा है। ऐसे में मसूरी वासियों को उम्मीद है कि विंटर कार्निवल में लोग आयेंगे और सीज़न में हो रहे नुक़सान तीस कुछ भरपाई हो सकेगी।