लेफ्ट जेन अनिल भट्ट होंगे सेना के डीजीएमओ; उत्तराखंड का नाम किया रोशन

0
1141

यूं तो उत्तराखंड और सेना का साथ दशकों पुराना है। राज्य के बारे में ये भी कहा जाता है कि यहां हर घर से एक व्यक्ति सेना मे  है। समय समय पर राज्य के वीर जवानों ने लड़ाई के मैदान में पराक्रम दिखाकर प्रदेश का नाम ऊंचा किया है। ऐसे ही गौरव का एक और मौका लड़ाई के मैदान से नही लेकिन सेना मुख्यालय से तब आया जब दिल्ली में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हई नियुक्ति समिति की बैठक में लेफ्ट जेन अनिल कुमार भट्ट का नाम अगले डाइरेक्टर जेनरल मिलिट्री आॅपरेशन (डीजीएमओ) के लिये चुना गया।

anil-kumar-bhatt

गोरखा राइफ्ल में कमिश्न लेफ्ट जेन भट्ट डीजीएमओ का कार्यभार लेफ्ट जेन रणबीर सिंह से लेंगे। इस नियुक्ति से पहले भी लेफ्ट जेन भट्ट ने भारत की सर्वोत्तम अटैक फोर्स में से एक स्ट्राइक वन काॅर्प के जीओसी के साथ कई अन्य पद संभाले हैं। उत्तराखंड के साथ साथ ये खासतौर पर मसूरी के लिये खासे गर्व का विषय है क्योंकि भट्ट मसूरी के ही रहने वाले हैं। उन्होने अपनी पढाई मसूरी के प्रतिष्ठित सेंट जार्ज काॅलेज से की है। 1977 बैच के छात्र अनिल के काॅलेज के प्रिंसिपल ब्रदर जे सी कैरल भट्ट को एक बेहतरीन अफसर और होशियार छात्र के रूप में याद करते हैं।

भट्ट को करीब से जानने वाले और काॅलेज में उनसे कुछ साल सीनियर गणैश सैली कहते हैं कि “अनिल मसूरी के एक आम परिवार का खास बेटा है, जिसके दिल में हमेशा से ही कुछ कर गुजरने की लालसा थी।”