सिक्किम के पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी, पर्यटक फंसे

0
557

गंगटोक,  लंबे इंतजार के बाद बुधबार दोपहर से राजधानी गंगटोक सहित राज्य के विभिन्न स्थानों में जमकर बारिश हुई। बारिश के साथ ही राज्य के ऊँचे पहाड़ी इलाकों में ओले तथा बर्फबारी हुई है। सर्दी माह के बाद ठंड छंट ही रहा था किअचानक हुई बारिश के कारण ठंड का प्रकोप फिर से बढ़ गया है।

मौसम अचानक खराब होने से, और तेज हावा बहने लगी,  कुछ ही देर बाद आकाश में काले बादल मंडराने लगे और जोरों से बारिश शुरू हो गयी। वहीं, ऊँचे पहाड़ी इलाकों में भारी ओला-वृष्टि हुई। राज्य के दक्षिण और पश्चिम जिला के कई ग्रामीण इलाकों में हुई ओला-वृष्टि के कारण फसलों को व्यापक क्षति पहुंचने की जानकारी मिली है। दक्षिण जिला के रावांगला में हुई व्यापक ओला-वृष्टि से चर्चित पर्यटकीय स्थल तथागत सल बर्फ जैसी सफेद चादर से ढक गयी। पूरब जिले के चर्चित पर्यटकीय स्थल छांगु, नाथुला, कुपुप, जलुक आदि ऊँचे पहाड़ी इलाकों में भारी मात्रा में बर्फबारी हुई है। साथ ही उत्तर जिले के चर्चित पर्यटकीय लाचेन में व्यापक बर्फबारी हुई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज चर्चित पर्यटकीय स्थल छांगु में अचानक हुई व्यापक बर्फबारी के कारण 13 माइल में पर्यटकों के लगभग 56 वाहन फंस गए। सेरेथांग पुलिस थाना प्रभारी पीआई नवीन राई के नेतृत्व में पुलिस कर्मियों और 3 माईल चेकपोस्ट के पुलिस कर्मियों की सक्रियता में देर साम लगभग 7ः30 बजे सभी फंसे पर्यटकों के वाहनों को सुरक्षित राजधानी गंगटोक लाया गया।

पुलिस ने अतिरिक्त वाहन बुलाकर पर्यटकों को निकाला जबकि पर्यटकों के मोटर साइकिल को निकाला नहीं जा सका। पुलिस सूत्रों के मुताबिक अधिक बर्फबारी होने के कारण कल गुरुबार को पर्यटकों को छांगु, नाथुला और बाबा धाम जाने की अनुमति नहीं दी जायेगी। आज पर्यटकों के कुल 316 वाहन छांगु, नाथुला तथा बाबा मंदिर भ्रमण के लिए गया था।