नरसिंह देवता मंदिर में अब नहीं होगी पशु बलि

0
1013

(रुद्रप्रयाग) सोमवार को जखोली ब्लाक के कुण्ड उरोली लस्या में आयोजित पांच दिवसीय श्री नरसिंह देवता महायज्ञ का मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुभारंभ किया। इस अवसर मुख्यमंत्री की पहल पर श्री नरसिंह देवता मंदिर में वर्षो से चली आ रही बलि प्रथा को भी समाप्त किया गया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण की है कि ग्रामीणों ने बलि प्रथा को समाप्त किया और इसके लिए उन्हें आमंत्रित किया।
पहली बार जखोली ब्लाक के सुदरवर्तीगांव कुंड उरोली गांव पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र का स्थानीय जनता और जनप्रतिनिधियों ने गर्मजोशी से जोरदार स्वागत किया। मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री श्री प्रकाश पंत्र भी कार्यक्रम में पहुंचे। मुख्यमंत्री ने नरसिंह देवता मंदिर में पूजा-अर्चना की और नारियल चढ़ाकर बलि प्रथा का समापन किया। मुख्यमंत्री ने स्थानीय जनता की मांग पर श्री नरसिंह देवता मंदिर के लिए सोलर लाइट की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने क्षेत्रीय जनता की सोलह सूत्री मांगों के निस्तारण हेतु क्षेत्रीय विधायक को सीएम कार्यालय में वार्ता करने के लिए कहा। इस मौके पर वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि जनपद रुद्रप्रयाग के विकास में कहीं भी वित्त की कमी आडे नहीं आने दी जाएगी।
इस अवसर पर विधायक भरत सिंह चौधरी, प्रसिद्व कथावाचक आचार्य शिवप्रसाद मंमगाई, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय कप्रवाण, जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणा सहित जनप्रतिनिधि व स्थानीय जनता उपस्थित थी।