उत्तराखंड में बरसात से नदी-नाले उफान पर

0
127
बारिश

राज्य में मैदान से लेकर पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश से नदी -नाले उफान पर हैं। इस दौरान भूस्खलन होने से बदरीनाथ, केदारनाथ और यमुनोत्री हाइवे के साथ ग्रामीण संपर्क मार्ग बंद हो गए हैं। मार्ग खोलने का कार्य जारी है। मौसम विज्ञान विभाग ने अगले 48 घंटे के लिए देहरादून और नैनीताल समेत सात जिलों के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है। 1 अगस्त तक मौसम के मिजाज में बदलाव की उम्मीद नहीं है। चेतावनी को देखते हुए जिला प्रशासन एहतियात बरत रहा है।

– बदरीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री हाइवे बंद

– प्रदेश की राजधानी देहरादून में कई जगह जलभराव

-ऋषिकेश में चीला बैराज पर नदी का जलस्तर बढ़ा

-मसूरी में पर्यटकों को कैंपटी फाल जाने से रोका गया

प्रदेश में मंगलवार देररात से रुक-रुक कर हो रही बारिश बुधवार को भी जारी है। दून घाटी और पहाड़ी क्षेत्रों में नदी-नाले उफान पर हैं। देहरादून में रातभर हुई बारिश से शहर में जलभराव हो गया है। ऋषिकेश में चीला बैराज पर नदी का जल स्तर बढ़ने लगा है। मसूरी में पूरी रात हुई मूसलाधार बारिश से कैंपटी फाल ने विकराल रूप ले लिया है। इसे देखते हुए पुलिस ने फाल के आसपास की दुकानों को खाली करवाया है। इसके साथ ही पर्यटकों को कैंपटी फाल पर जाने से फिलहाल रोक दिया गया है।

नैनीताल, रुद्रप्रयाग, टिहरी और चमोली में बारिश ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। देहरादून के रायपुर के मालदेवता में मलबा एक बार फिर सड़क पर आ गया है। दून के बकरावाला क्षेत्र में एक पुल टूट गया है। सौंग नदीं का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। ऋषिकेश-बदरीनाथ और रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाइवे भी मलबा आने से बंद हाे गया है। बीआरओ बंद मार्ग खालने के लिए जुटा हुआ है। बाढ़ के खतरे को देखते हुए तटवर्ती क्षेत्र गौहरीमाफी और साहब नगर गांव के लोग दहशत में हैं। आपदा प्रबंधन महकमा बारिश के खतरे को देखते अलर्ट पर है।

मौसम विज्ञान केंद्र की पूर्वानुमान के अनुसार आज उत्तरकाशी,देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में कुछ स्थानों पर आकाशीय बिजली चमकने के साथ भारी बारिश हो सकती है। राज्य में 30 जुलाई तक के लिए लिए उत्तरकाशी, देहरादून, टिहरी, पौड़ी, बागेश्वर नैनीताल, पिथौरागढ़ के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। 31 जिुलाई के लिए देहरादून, टिहरी, चमोली, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के लिए कहीं-कहीं भारी बारिश तेज बौछारें के साथ पड़ सकती है। एक अगस्त को चमोली, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर तथा पिथौरागढ़ जनपदों में कहीं-कहीं तीव्र बौछार के साथ भारी वर्षा होने की संभावना है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह का कहना है कि राज्य में मौसम का मिजाज एक अगस्त तक इसी तरह रहेगा। चेतावनी वाले जनपदों के आलावा राज्यभर में बारिश हो रही है। विभाग ने स्थानीय लोगों को नदी, नालों से दूरी बनाने और बारिश के समय यात्रा न करने की सलाह दी है।