कोरोना का खौफ और बेईमान मौसम फेरेगा होली पर ‘पानी’

0
243

ऋषिकेश, कोरोना वायरस के खौफ के चलते इस मर्तबा होली की रंगत फीकी रह सकती है। उत्तराखंड में मौसम का गड़बड़ाता मिजाज भी होली के शौकीनों पर डबल अटैक करता दिखाई दे रहा है।उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों के साथ गढ़वाल के मुख्य द्वार ऋषिकेश में भी लगातार बारिश हो रही है, जिसके चलते पर्व से जुड़े रंग विक्रेताओं के चेहरे से अभी से उड़ने शुरू हो गए हैं।

पूरी दुनिया को कोरोना वायरस देने वाला चीन भारत से दूसरे सबसे बड़े त्योहार होली पर भी ग्रहण बन गया है। कोरोना वायरस के डर से एक ओर जहां लोग खुद होली से दूर रहने का प्लान बना रहे हैं, वहीं कोरोना वायरस के चलते रंगों की कीमत में दोगुनी वृद्धि हुई है।इस बीच मौसम के बेईमान तेवर लगातार खलनायक बने हुए हैं जिसे देख कयास लगाए जा रहे हैं कि अव्वल तो लोग इस बार मौसम के गड़बड़ाते मिजाज और कोरोना वायरस के डर से होली से दूर रहने की कोशिश करेंगे और जो होली खेलना भी चाहेगा, उनके अरमानों पर रंगों में हुई दोगुनी वृद्धि पलीता लगाने के लिए तैयार बैठी है, जिससे लोग चाहते हुए भी रंगों के त्योहार को इस बार भरपूर आनंद नहीं ले पाएंगे।

उल्लेखनीय है मेड इन चाइना प्रोडक्ट्स कोरोना वायरस ने होली पर दोतरफा वार किया है। एक तरफ संक्रमण फैलने से चीन में रंगों और पिचकारियों की फैक्टरियां बंद पड़ी हैं, जिससे भारत में माल की सप्लाई ठप पड़ गई है, जिससे महंगे हुए रंग लोगों की पहुंच से दूर हो रहे हैं। दूसरी तरफ मौसम के बेईमान तेवर लगातार बने हुए हैं,जिसे देख कह सकते हैं कि होली पर्व इस वर्ष फीका रह सकता है।