कॉर्बेट पार्क में उल्लुओं की हिफाज़त के लिए विशेष चौकसी

0
99
उल्लू
दिवाली आते ही मां लक्ष्मी के वाहन उल्लू की जान पर बन आती है। तंत्र साधना के लिए तांत्रिक उल्लुओं की बलि चढ़ाते हैं। इसके लिए जंगलों में तस्कर त्यौहार का लाभ उठाकर घुसपैठ करते हैं। दिवाली में उल्लू सुरक्षित रह सकें, इसके लिए कॉर्बेट प्रशासन ने कमर कस ली है और उल्लुओं की सुरक्षा के लिए कॉर्बेट को हाई अलर्ट पर रख गया है।
– लक्ष्मी के वाहन की हिफाज़त के लिए कॉर्बेट पार्क के सुरक्षाकर्मी मुस्तैद 
वनवास से भगवान राम के अयोध्या वापस आने पर दिवाली पर्व मनाया जाने लगा। इस पर्व पर मां लक्ष्मी की आराधना की जाती है। ऐसे में मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए देश भर में कई टोटके भी किये जाते हैं। इनमें मां लक्ष्मी के वाहन उल्लू की जान पर बन आती है। कुछ लोग तंत्र विद्या से मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उल्लू की बलि भी देते हैं, ताकि मां लक्ष्मी प्रसन्न हों और उनके यहां विराजमान हो सकें।
उल्लुओं को इन अंध विश्वासियों से बचाने के लिए वन विभाग भी मुस्तैद है। कॉर्बेट में उल्लुओं की सुरक्षा के चलते कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गई हैं, ताकि जंगल का यह जीव जंगल मे सुरक्षित रह सके। पार्क के निदेशक राहुल ने बताया कि उनके पास ऐसी सूचनाएं अलग-अलग स्रोतों से आई हैं, लिहाजा सुरक्षाकर्मियों को अलर्ट रहने को कहा गया है।