लोकसभा चुनाव : उत्तराखंड में कांग्रेस उम्मीदवार पांच न्याय गारंटी के साथ जनता के बीच जाएंगे

0
97
कांग्रेस

देशभर के साथ उत्तराखंड में भी राहुल गांधी की पांच न्याय गारंटी के साथ लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार जनता के बीच चुनाव अभियान का शंखनाद करेंगे। इसके लिए पार्टी की ओर से जन-जन तक पांच न्याय गारंटी को पहुंचाने के लिए विशेष फोकस किया जा रहा है।

हालांकि प्रदेश की प्रमुख प्रतिपक्षी पार्टी कांग्रेस शुरुआती दौर में अपनी धुर विरोधी भाजपा से पिछड़ गई है। सत्ताधारी दल जहां सभी पांचों सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर पहले से ही चुनावी कार्यक्रम में बढ़त बना रखी है वहीं कांग्रेस ने शेष बचे 02 सीटों पर शनिवार को उम्मीदवार के नाम फाइनल किया। अब इसी के साथ कांग्रेस भी पांचों सीट पर अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। राज्य में भाजपा-कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय दलों के बीच सीधा मुकाबला है। अब भाजपा के बाद कांग्रेस भी लोकसभा चुनाव में जीत की आस को लेकर अपने चुनाव प्रचार को गति देने को कमर कस ली है। प्रदेश कांग्रेस वॉर रूम पूरी तरह चुनाव को लेकर सक्रिय है।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा राज्य से बाहर रहने के बावजूद भी लगातार जूम मीटिंग ले रही हैं। वे सभी लोकसभा सीटों के लिए निष्ठा पूर्वक कार्य करने के लिए कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम कर रही हैं।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी का कहना है कि राहुल गांधी के प्रस्तावित पांचों न्याय गारंटी को लेकर सभी उम्मीदवार चुनाव मैदान में जनता के बीच जाएंगे। किसान न्याय गारंटी, श्रमिक न्याय गारंटी, नारी न्याय गारंटी, हिस्सेदारी न्याय गारंटी, युवा न्याय गारंटी, प्रमुख हैं। जन-जन तक पहुंचाने के लिए बूथ लेवल तक कार्यकर्ताओं की सक्रियता पर बल देने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी नियुक्त लोकसभा कोआर्डिनेटर और अन्य पदाधिकारियों से सीधे तौर पर बातचीत कर उनकी समस्याओं को सुना है। साथ ही उनके ओर से प्रत्येक आवश्यकता को पूर्ण का आश्वासन भी दिया गया।

प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने प्रस्तावित पांच न्याय गारंटी जन-जन तक जनता की अदालत में पहुंचाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी व संगठन के अनुकूल माहौल तैयार करने के लिए न्याय गारंटी की नीतियों को जनता के बीच पहुंचाने के लिए पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इस लोकसभा चुनाव में प्रदेश की तरफ से कांग्रेस पार्टी को पांचों लोकसभा सीट जीतकर विशेष उपहार के रूप में समर्पित किया जाएगा, जनता के बीच में वर्तमान केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के जनविरोधी कार्यों के कारण व्याप्त असंतोष को जनता के बीच लाने का भरपूर प्रयास किया जाएगा।