भू-कानून और शीतकालीन सत्र पर कांग्रेस ने भाजपा को घेरा

0
159
उत्तराखंड

उत्तराखंड सरकार को घेरने का लगातार कांग्रेस प्रयास कर रही है। गैरसैंण में सत्र न कराये जाने पर भी सत्ता पक्ष को घेरा गया।

नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस भवन में गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि विपक्ष चाहता था कि विधानसभा का शीतकालीन सत्र गैरसैंण में ही आयोजित किया जाए, लेकिन सरकार में इच्छाशक्ति की कमी के कारण ऐसा नहीं हुआ और सरकार अब इसमें विपक्ष की सहमति की बात कह रही है।

नेता विपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा ने गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया था तो वहां आज तक एक भी पूर्ण सत्र का आयोजन क्यों नहीं किया। उन्होंने कहा कि शीतकालीन सत्र पहले गैरसैंण में कराने की बात कही गई और अब इसे भी दून में कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम गैरसैंण सत्र के लिए तैयार थे, अब कहा जा रहा है कि हमारी मांग पर दून में सत्र रखा गया है। उन्होंने कहा कि गैरसैंण को लेकर सरकार कतई संवेदनशील नहीं है।

नेता विपक्ष ने भाजपा की सरकार को रोलबैक सरकार बताते हुए कहा कि अपने ही फैसलों को पलटने वाली भाजपा सरकार ने खुद ही यह सिद्ध कर दिया है कि उसके फैसले गलत थे। प्रीतम सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि धामी सरकार को त्रिवेंद्र सरकार का वह फैसला भी वापस लेना चाहिए जिसके जरिए उन्होंने भू कानून में संशोधन कर भू-माफिया के लिए जमीनों की लूटपाट का रास्ता खोला है। क्योंकि इस संशोधन का उद्देश्य भू माफिया को लाभ पहुंचाना था।

उन्होंने कहा कि सरकार नया भू कानून लाने की बात कह रही है। नया भू कानून लाने से पूर्व सरकार भू कानून संशोधन को रद्द करें। पत्रकार वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल सहित कई लोग उपस्थित थे।