कोरोना की दूसरी लहर से केंद्र सतर्क, हालात गंभीर, सख्ती की जरूरत

0
39
कोरोना
देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलता देख केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय सतर्क है। स्वास्थ्य सचिव ने हालात को गंभीर बताते हुए सभी राज्यों के सचिवों को पत्र लिखकर सख्त कदम उठाने को कहा है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को लिखी चिट्ठी में जिला स्तर पर कदम उठाने पर जोर दिया है।
स्वास्थ्य सचिव ने कोरोना के संक्रमण चेन को तोड़ने के लिए राज्यों को टेस्ट, ट्रैक और ट्रीटमेंट के सिद्धांत पर काम करने को कहा है। सभी राज्यों में कुल टेस्ट का 70 फीसदी से अधिक आरटी-पीसीआर टेस्ट करने के निर्देश दिए गए हैं।
इसके साथ कोरोना संक्रमण को रोकने के उपायों का सख्ती से पालन करने को कहा है। संक्रमित लोगों को आईसोलेशन में रखने के साथ उनके 20-30 संपर्क को भी एकांतवास में रखने के निर्देश दिए गए हैं। संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए ज्यादा नए मामले वाले क्षेत्रों को कन्टेंमेंट जोन बनाने को कहा है।
साथ ही कोरोना से होने वाली मौत के कारणों का डेटा तैयार करने को कहा गया है। अस्पताल में सभी जरूरी इंतजाम करने के भी निर्देश दिए गए हैं।
पहली अप्रैल से 45 साल के ऊपर के लोग करवा सकेंगे रजिस्ट्रेशन
एक अप्रैल से 45 साल के ऊपर के सभी लोग टीका लगवा सकेंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोरोना से बचाव का टीका लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन भी एक अप्रैल से होगा। जो लोग ऑन साइट यानी जाकर वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, वे लोग अस्पतालों में दोपहर तीन बजे के बाद जा सकते हैं।
उससे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वाले ही टीका लगवा सकते हैं। टीका लगवाने के लिए पहचान के लिए आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, पासपोर्ट, बैंक पासबुक आदि लेकर टीकाकरण केन्द्रों पर जा सकते हैं।