आईटीबीपी के गश्ती दल से बिछड़े तीन पोर्टरों के शव बरामद

0
58
आईटीबीपी
Represntative image

भारत-चीन बॉर्डर पर आईटीबीपी के गश्ती दल से बिछड़े तीन पोर्टरों के शव वायुसेना ने ढूंढ निकाले हैं। तीनों पोर्टरों के शव भारत-चीन सीमा स्थिति आईटीबीपी की नीला पानी चौकी से डेढ़ किलोमीटर दूर बॉर्डर की ओर बर्फ में दबे मिले। इस बारे में बुधवार की शाम को आईटीबीपी 12वीं वाहिनी मातली के द्वितीय कमान अधिकारी नेहाल सिंह भंडारी ने हर्षिल थाने में सूचना दी।

उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा ने बताया कि तीनों पोर्टरों के शव आईटीबीपी ने बरामद कर लिए हैं, जिन्हें उत्तरकाशी लाया जा रहा है। तीनों भटवाड़ी तहसील के निवासी हैं।

चीन सीमा पर नियमित गश्त के लिए 15 अक्टूबर को चार पोर्टरों के साथ आईटीबीपी की टीम भारत-चीन सीमा स्थित नीलापानी चौकी से बॉर्डर के लिए रवाना हुई थी। वापसी में 17 अक्टूबर को बर्फबारी के दौरान पोर्टर संजय सिंह पुत्र दिलबर सिंह निवासी चिवां, नाल्ड तहसील भटवाड़ी, राजेंद्र सिंह पुत्र बृजमोहन निवासी स्यूणा, सिरोर तहसील भटवाड़ी, दिनेश चौहान पुत्र भारत सिंह चौहान निवासी भटवाड़ी आईटीबीपी की टीम से बिछड़ गए थे, जबकि चौथा पोर्टर आईटीबीपी की टीम के साथ नीलापानी चौकी में लौटा।