दून की ”अस्मिता” ने पीसीएस परीक्षा पास कर पूरी की अपनी मां की आखिरी इच्छा!

0
429

(देहरादून) बीते दिनों आए उत्तराखंड पीसीएस के रिजल्ट ने बहुत से तैयारी करने वालों के सपनों को पूरा कर दिया है। अलग-अलग क्षेत्रों में पोस्टिंग मिलने से ना केवल पीसीएस परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थी खुश है बल्कि उनके परिवार का सपना भी पूरा हुआ है।

हमारी आज की कहानी भी एक ऐसी है लड़की है जिसने पीसीएस परीक्षा पास कर ना केवल अपने परिवार का बल्कि अपनी स्वर्गीय मां का सपना भी पूरा किया है।

बहुत ही कम उम्र में अपने सपनों को पूरा करने के लिए जंग छेड़ने वाली अस्मिता मंमगई देहरादून की रहने वाली है। उत्तराखंड पीसीएस 2016 के रिजल्ट ने मानों उनके सपने को पंख लगा दिए हो। अस्मिता को जब अपना पीसीएस का रिज्लट मिला तब वह फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर की ट्रेनिंग कर रहीं थी। उत्तराखंड पुलिस डिर्पाटमेंट में अस्मिता की पोस्टिंग डेप्यूटी एसपी के तौर पर होगी।

अपनी सफलता के बारे में और बात करते हुए अस्मिता ने हमें बताया कि, “मैं इस रिजल्ट से बहुत खुश हूं। मेरे लिए यह बहुत खुशी की बात है कि मैं अपनी मम्मी की आखिरी इच्छा पूरी कर पाई।वह हमेशा से मुझे सिविल सर्विसेज में देखना चाहती थी, आज वह मेरे साथ नहीं है लेकिन फिर भी मुझे पता है वह बहुत खुश होगीं।”

पीसीएस की परीक्षा पास करने वाली अस्मिता का मानना है कि घंटो पढ़ना अच्छी बात है लेकिन जब तक पढ़े हुए कोर्स की रिवीजन पूरे कॉंसंट्रेशन से ना हो तो सब कुछ याद नहीं रहता। अभिषेक आईएएस एकेडमी, सेल्फ स्टडी और ऑनलाईन लेक्चर से अस्मिता को खासा मदद मिली।

अस्मिता कहती है कि, “पीसीएस की परीक्षा में पढ़ने और उसे पास करने के लिए मेरी मां हमेशा मेरी प्रेरणा रही और मेरे पापा और छोटी बहन में मुझे हमेशा पूरा सर्पोट किया है। उनके इस साथ और सहयोग से मेरा यह सफर थोड़ा आसान रहा। ऐसे कॉंपटिशन की तैयारी करने वालों सभी अभियर्थियों के लिए अस्मिता केवल एक बात कहती हैं कि, “कभी हार न मानें, असफलताओं से सीखें और धैर्य रखें। सफलता के लिए समय, कड़ी मेहनत और समर्पण की जरूरत होती है। अपनी सफलता का मंत्र अस्मिता अपनी नियमित और कंसिसटेंसी को देती है।”

अलग-अलग चुनौतियों से लड़ते हुए अपनी मंजिल को पाने वाली अस्मिता आने वाले समय में उत्तराखंड पुलिस में अपनी  सेवा देते हुए नज़र आऐंगी।

टीम न्यूजपोस्ट अस्मिता को उनकी इस सफलता के लिए ढ़ेर सारी  शुभकामनाएं देती है।