बर्फ के पहाड़ काटकर हेमकुण्ड साहिब-लोकपाल का मार्ग तैयार करेंगे सेना के जवान

0
40

सिखों के पवित्र धाम हेमकुण्ड साहिब और प्रसिद्ध तीर्थ लोकपाल तक बर्फ से पटे मार्ग को खोलने के लिए सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। सेना के 44 जवान घांघरिया से हेमकुंड साहिब-लोकपाल तक के मार्ग से ग्लेशियर काट कर मार्ग आवाजाही के लिए तैयार करेंगे।

गौरतलब है कि हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 22 मई को खोले जाने हैं। हेमकुंड साहिब-लोकपाल में अभी भी बर्फ की मोटी परत जमीं है। इसके अलावा अटलाकोटी ग्लेशियर प्वॉइन्ट पर भी बर्फ के पहाड़ हैं, जिसे काटकर मार्ग तैयार करना किसी चुनौती से कम नहीं है। इस चुनौती पूर्ण कार्य को सेना ही कर सकती है।

सेना प्रतिवर्ष हेमकुंड साहिब-लोकपाल मार्ग को यात्रा से पूर्व खोलती है। इस वर्ष भी सेना की इंजीनियर कोर, गढ़वाल स्काउट्स, ग्रिनेडियर और महार रेजिमेंट के जवान घांघरिया पहुंचकर मार्ग तैयार करेंगे।

हेमकुंड साहिब के मैनेजमेंट ट्रस्ट के मुख्य प्रबंधक सरदार सेवा सिंह के अनुसार सेना के जवानों को पूरे सम्मान के साथ गुरुद्वारा गोविंदघाट से प्रस्थान कराया। जवानों की व्यवस्था के लिए पर्याप्त स्टाफ को घांघरिया भेजा गया है।