पहली मई से 18 साल से ऊपर सभी नागरिक करा पाएंगे कोरोना बचाव का टीकाकरण

0
256
कोरोना

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच सोमवार को केंद्र सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। अब 18 साल से ऊपर के सभी नागरिक कोरोना से बचाव का टीकाकरण करा सकेंगे। टीकाकरण का अगला चरण एक मई से प्रारंभ हो रहा है।

केंद्र सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हो। टीकाकरण अभियान व अस्पताल व्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी चिकित्सकों और दवा बनाने वाली कंपनियों के साथ सोमवार को एक अहम बैठक की। बैठक में टीकाकरण का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिये गए। यह निर्णय लिया गया कि 18 साल से ज्यादा आयु के प्रत्येक व्यक्ति को अब कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जाएगी।

एक मई से कोरोना टीकाकरण अभियान के चौथे चरण की शुरुआत हो रही है, जिसमें टीकाकरण अभियान में तेजी लाई जाएगी। साथ ही इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। टीकाकरण के पहले चरण में डॉक्टर और फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लगाने की शुरुआत 16 जनवरी से की गई थी। दूसरे चरण में 60 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीका लगाया गया था और तीसरे चरण में 45 साल तक के सभी लोगों को टीका लगाने की शुरुआत की गई थी।

अब अगले चरण में राष्ट्रीय वैक्सीन नीति के तहत टीके की कीमत के साथ इसका दायरा बढ़ाने के लिए विशेष छूट दी जाने की बात कही गई है। अगला चरण 1 मई से प्रारंभ हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने अधिक से अधिक भारतीयों को कम से कम समय में टीका मुहैया कराने पर बल दिया है। उन्होंने ने कहा कि भारत विश्व में दूसरे देशों की तुलना रिकॉर्ड तेजी से लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगा रहा है। आगे भी इस अभियान को तेजी से जारी रखा जाएगा।

कोराना वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए सरकार ने भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की दो वैक्सीन को अनुमति दी थी। इसके बाद विदेश में बने स्पुतनिक वैक्सीन को भी आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी गई। स्पुतनिक का निर्माण अब भारत में भी हो सकेगा।

उल्लेखनीय है कि राजधानी दिल्ली समेत देश के विभिन्न हिस्सों से कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से वृद्धि आई है। इसे देखते हुए राजधानी दिल्ली में सोमवार रात 10 बजे से 26 अप्रैल को सुबह पांच बजे तक छह दिन के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। देश में कोरोना के नए वेब को रोकने के लिए कई हिस्सों में कर्फ्यू या लॉकडाउन लगाया गया है।