मानसून से पहले रामगंगा बांध को लेकर चेतावनी जारी

0
1119
कालागढ़/पौड़ी, कालागढ़ स्थित रामगंगा बांध में वर्षाकाल के दौरान बाढ़ की आशंका के मद्देनजर प्रशासन ने बाढ़ चेतावनी जारी की है। प्रशासन ने यूपी के चार मंडलों सहित सात जनपदों के प्रशासनिक तथा संबंधित विभागीय अधिकारियों से रामगंगा नदी के बहाव क्षेत्र में सतर्कता बरतने को कहा है।
कालागढ़ रामगंगा बांध के अधीक्षण अभियंता आरके अग्रवाल द्वारा जारी बाढ़ चेतावनी में यूपी के जिला बिजनोर, मुरादाबाद, ज्योतिबाफूले नगर, रामपुर, शाहजहांपुर तथा फर्रूखाबाद के जिलाधिकारियों के अलावा मेरठ, मुरादाबाद, बरेली व कानपुर के मण्डलायुक्तों तथा पुलिस उपमहानिरीक्षकों से कहा गया है कि रामगंगा बांध निर्माण के बाद जो सामान्य की धारणा बन गयी है कि अब नदी में बाढ़ नहीं आएगी, जिसके चलते लोगों ने नदी के बहाव क्षेत्र में खेती का विस्तार कर लिया है।
उन्होंने बताया कि ग्रामीणों द्वारा नदी की तलहटी में भी खेती शुरू करके व्यापक रूप से नदी के बहाव क्षेत्र को बाधित कर दिया गया है। बांध प्रशासन द्वारा अपरिहार्य परिस्थितियों में हरेवली बैराज तथा शेरकोट स्थित खो बैराज से भी पानी की निकासी किये जाने की सम्भावना व्यक्त की गयी है। बीते वर्ष भी वर्षाकाल से पूर्व नदी क्षेत्र से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों को सूचित करके उनको समय रहते हटाने के लिये कहा गया था।
जलाशय की अधिकतम निर्धारित भण्डारण क्षमता 365.300 मीटर है। लेकिन जलाशय का जलस्तर 355 मीटर होने की स्थिति में इसकी सूचना तत्काल सम्बंधित प्रशासनिक अधिकारियों को उपलब्ध करा दी जायेगी। ताकि समय रहते सम्भावित प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा की व्यवस्था की जा सके। इसके अलावा परिपत्र में कहा गया है कि जलाशय का जलस्तर 355 मीटर होने के बाद किसी भी समय नदी में पानी छोड़ने की आवश्यकता हो सकती है।