देहरादून में दूसरे दिन भी सप्ताहांत लॉक डाउन,पसरा सनाटा

0
432
देहरादून
राजधानी में दूसरे दिन भी सप्ताहांत लॉक डाउन,पसरा सनाटा
प्रदेश की राजधानी देहरादून में दो दिवसीय लॉकडाउन के आखिरी दिन रविवार को आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी की गतिविधियां बंद रहीं। वहीं शराब और मिष्ठान की दुकानें खुली रहीं। फिर भी सड़कों, गलियों और चौराहों में सन्नाटा पसरा रहा। इस दौरान कम लोग ही सड़कों पर निकले। अनावश्यक घर से बाहर  निकलने वालों से पुलिस सख्ती के साथ पेश आई। इस दौरान जिले में परिवहन सेवाएं भी बंद रहीं।
कोरोना के खतरे के मद्देनजर राज्य सरकार ने प्रदेश के चार जिलों, देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, उधमसिंह नगर में शनिवार और रविवार के लिए लॉकडाउन घोषित किया था। इसी के तहत रविवार को पूर्णतः लॉकडाउन रहा। इसके लिए राजधानी में पुलिस सतर्क रही। लॉकडाउन के दौरान नगर निगम, नगरपालिका और नगर पंचायत की ओर से क्षेत्रों की सड़कों के साथ मोहल्लों को सैनिटाइज भी किया गया।
उधर, लॉकडाउन में भी लोग घरों पर बैठने को तैयार नहीं हैं। शराब ठेके और इस बार मिष्ठान दुकान खुले होने के चलते लोगों को नया बहाना मिल गया। पुलिस इन्हें नजदीक की दुकानों से क्रय करने की नसीहत दी। शहर में लॉकडाउन के मद्देनजर पुलिस ने सुबह से ही जिले की सीमा को नाकेबंदी कर दी थी। चौराहों पर बैरिकेड लगाकर वाहनों को रोकर सघन तलाशी ली। मास्क न पहनने वालों के साथ सख्ती के साथ चालान की कार्रवाई मौके पर की गई। बंदी के बावजूद बाहर निकले वाहनों को कारण नहीं मिलने पर चालान किया गया। बाहरी नम्बर के गाड़ियों का शहर में आने के कारण के साथ ही संक्रमण को लेकर विशेष एहतियात बरती गई।कई वाहन मौके पर सीज कर दिए गए।
पलटन बाजार, इंद्रा मार्केट, घंटा घर, राजपुर रोड, चकराता रोड सहित अन्य स्थानों पर सन्नाटा नजर आया। नगर निगम ने बाजार और रोड को सेनेटाइज किया। वहीं आज पंजीकृत मांस, मछली की दुकानें मछी बाजार सहित अन्य स्थानों पर खुली रहीं।
देहरादून में मेडिकल स्टोर, फल-सब्जी, होम-डिलीवरी, डेरी, अस्पताल, पेट्रोल पंप और मीट-मछली की सभी दुकानें खुली रही। हालांकि सब्जी और फल के ठेले पर खरीददारी करने वाली की संख्या नाम मात्र रही।
इसी के साथ होटल, बेकरी, कृषि निर्माण के कार्य करने वालों को भी प्रशासन की ओर से राहत दी गई है। वहीं, जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव ने लोगों को अपने घर में रहने की अपील की है। बेवजह सड़कों पर घूमने वाले लोगों के ऊपर सख्त कार्यवाही की जा रही है।