पुलिस को चकमा देकर 9 नेपाली मजदूर काली नदी में कूदे, तैरकर पहुंचे नेपाल

0
634
पुलिस
धारचूला में पिछले 26 दिनों से राहत कैम्प में रह रहे 9 नेपाली मजदूर आज पुलिस को चकमा देकर काली नदी में कूद गए और तैरकर नेपाल पहुंच गए। घटना के बाद प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।
बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह नेपाली मजदूर शौच के बहाने पुलिस के जवानों को चकमा देकर काली नदी में कूद गए और नदी को पार कर सकुशल नेपाल पहुंच गए। इन सभी को नेपाल प्रशासन ने एक सरकारी स्कूल में क्वारंटाइन में रखा है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी कुछ दिन पहले 3 नेपाली मजदूर काली नदी को पार कर नेपाल पहुंचने में कामयाब हो गई थे। आज हुई इस घटना के बाद पुलिस ने राहत कैम्प में तालाबंदी कर दी है।
धारचूला के जवाहर सिंह नबियाल स्टेडियम में बने राहत कैम्प में रह रहे 9 नेपाली मजदूर बुधवार सुबह उफनती हुई काली नदी को तैरकर नेपाल पहुंच गए। ये मजदूर लॉकडाउन के बाद भारत-नेपाल को जोड़ने वाला झूलापुल बंद होने की वजह से राहत कैम्पों में रहने को मजबूर थे। नेपाल सरकार द्वारा पुल न ख़ोले जाने की वजह से मजदूरों में आक्रोश है। नेपाली मजदूरों का कहना कि धारचूला प्रशासन और एनएचपीसी द्वारा खाने पीने की अच्छी सुविधा की गई है लेकिन नेपाल सरकार अपने नागरिकों को लेने को तैयार नहीं है। ऐसे में जिन्हें तैरना आता है, उनको मजबूरन जान खतरे में डालकर ये कदम उठाना पड़ रहा है।
उधर, आज की ताजा घटना के बाद पुलिस ने स्टेडियम के गेट में तालाबंदी कर दी है। बिना अनुमति के किसी को भी स्टेडियम के बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है। धारचूला राहत कैम्प में फिलहाल 327 मजदूर रह रहे हैं।