उत्तराखंडः कोरोना संकट में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी सेवा कार्यों में जुटा

0
86
कोरोना वायरस (कोविड 19) संक्रमण से बचाव के मद्देनजर किए गए लॉक डाउन के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूरे देश भर में सेवा कार्य में जुट गया है। इसी क्रम में उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक शासन प्रशासन को अपने स्तर से पूरा सहयोग देकर पूरे महानगर में सेवा कार्य में लग गए हैं।
संघ के स्वयंसेवकों द्वारा नगर स्तर पर सेवा कार्य प्रारंभ किया गया है। इसके तहत स्वयंसेवकों की अलग-अलग टोलियां अलग-अलग कार्य में जुट गई हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के जिस तरीके को सर्वोत्तम बचाव समझा जा रहा है, उसके लिए महानगर के स्वयंसेवकों द्वारा हर नगर में दुकानों के बाहर सामान लेने वाले लोगों के लिए उचित दूरी पर पेंट और चूने से गोले बनाए जा रहे हैं, ताकि दुकानों के बाहर सामान लेने वाला हर व्यक्ति एक उचित दूरी पर खड़ा हो सके।
इसी तरह कुछ स्वयंसेवक महानगर के हर नगर में भोजन वितरण के कार्य में लगे हैं। इसके लिए नगर के कई मोहल्लों में स्वयंसेवकों द्वारा जरूरतमंद लोगों के घर राशन भी पहुंचाया जा रहा है। सूखे राशन के पैकेट तैयार कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपने स्वयंसेवकों के माध्यम से जरूरतमंद लोगों तक पहुंचा रहा है। राजधानी के कुछ नगरों में संघ द्वारा किचन भी तैयार किए गए हैं , जिसमें स्वयंसेवकों द्वारा जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन भी तैयार किया जा रहा है। शासन प्रशासन को सहयोग देते हुए महानगर के लगभग 1000 परिवारों तक स्वयंसेवकों द्वारा राशन और पका हुआ भोजन पहुंचाया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अपने देहरादून महानगर प्रांत कार्यालय में एक कॉल सेंटर भी बनाया है। देहरादून महानगर से कोई भी व्यक्ति 9410770763 नंबर पर अपनी जरूरत के लिए फोन कर सकता है।
इसके साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देहरादून महानगर द्वारा एक सहायता कोष भी तैयार किया गया है। इस सहायता कोष का उद्देश्य यह है कि यदि कोई व्यक्ति स्वेच्छा से जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए कुछ धन दान देना चाहता है  तो वह ऑनलाइन मोड से इस कोष में धन दान कर सकता है। जो भी व्यक्ति आर्थिक मदद करना चाहे , वह सेवा भारती देहरादून के अकाउंट में ऑनलाइन मोड से आर्थिक मदद के लिए धन ट्रांसफर कर सकता है। प्रांत कार्यालय में बनाए कॉल सेंटर पर इस संबंध में सूचना प्राप्त की जा सकती है।