उत्तराखंड के डीजीपी की फेक फेसबुक आईडी की जांच के लिए छह टीमें गठित

0
165
सूबे के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार की  फेक फेसबुक आईडी की जांच के लिए महकमे ने आधा दर्जन टीमें गठित की हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपित प्रोफेशनल साइबर अपराधी लग रहे हैं। इनका कनेक्शन बिहार, झारखंड और राजस्थान से हो सकता है।
यह टीमें पुलिस महानिरीक्षक(अपराध एवं कानून व्यवस्था) वी मुरूगेशन के सुपरविजन में काम करेंगी। जांच के शुरुआती क्रम में बिहार, झारखंड और राजस्थान के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से वार्ता कर सहयोग मांगा गया है। इस आईडी के संबंध में पैसे मांगने की शिकायत संबंधी प्राथमिकी कोतवाली देहरादून में दर्ज की गई।
साइबर अपराधी और ठग अब आमलोगों के साथ पुलिस अफसरों  को निशाना बना रहे हैं। गौरतलब है कि उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक  कुमार  का फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर पैसों की मांग करनी शुरू कर दी है। इस संबंध में शहर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस मुख्यालय की ओर से देहरादून साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई है। साइबर क्राइम की तकनीकी टीम डीजीपी के फेसबुक अकाउंट बनाने वाले अज्ञात व्यक्ति की जानकारी जुटाने में जुट गई है।
शहर कोतवाल रितेश शाह ने बताया कि डीजीपी अशोक कुमार की फेसबुक आइडी से उनकी फोटो डाउनलोड कर फर्जी फेसबुक आइडी बनाई गई है। डीजीपी की फोटो प्रोफाइल में लगाकर लोगों से पैसों की मांग की जा रही है। इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपित की पहचान करने के लिए जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि सोमवार देर शाम डीजीपी का फर्जी फेसबुक अकाउंट जनरेट करने का मामला सामने आया था।