14 की शाम से शुरू हो जाएगी कैंची धाम के लिए प्रतिबंधित यातायात व्यवस्था

0
28

नैनीताल के विश्व प्रसिद्ध बाबा नीब करौरी के कैंची धाम में 15 जून से वार्षिक समारोह के रूप में आयोजित होने वाले मेले के दृष्टिगत प्रशासन ने 14 और 15 जून के लिए अलग यातायात योजना तैयार की है।

इस योजना के तहत हल्द्वानी से अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ को जाने वाले भारी वाहन, यात्री वाहन व निजी वाहन 14 जून की शाम 5 बजे से खुटानी मोड़ भीमताल से, पदमपुरी, पोखराड़-कसियालेख-शीतला-मौना-ल्वेशाल होते हुए क्वारब को डायवर्ट किये जायेंगे जबकि नैनीताल से अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ को जाने वाले ऐसे ही वाहन भवाली के रामगढ़ तिराहे से मल्ला-तल्ला रामगढ़, नथुवाखान होते हुए क्वारब को डायवर्ट किये जायेंगे।

इसी प्रकार अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ से हल्द्वानी की ओर आने वाले वाहन भी इसी मार्ग से लौटेंगे। दूसरी ओर रानीखेत से आने वाले ऐसे ही वाहनों को खैरना पुल से क्वारब होते हुए मौना-ल्वेशाल-पदमपुरी से खुटानी बैंड के रास्ते भीमताल को डायवर्ट किया जायेगा। कैंची मेले में भवाली की ओर से आने वाले दोपहिया वाहन जंगलात बैरियर से आगे नहीं जायेंगे। इस बैरियर पर टैक्सी व बस शटल सेवा भी रोककर वापस भेजी जायेगी।

हल्द्वानी, नैनीताल की ओर से निजी वाहनों से आने वाले श्रद्धालुओं को पहले चरण में सिद्धि रेस्टोरेंट तक भेजा जायेगा और वहां से हरतपा रोड व भवाली की ओर एकतरफा पार्किंग की जायेगी। द्वितीय चरण में इस स्थान में दबाव बढ़ने पर समस्त निजी वाहनों को भवाली में पार्क कर शटल सेवा से भेजा जायेगा। इसी प्रकार खैरना से कैंची की ओर आने वाले दर्शनार्थियों के वाहनों को खैरना में पेट्रोल पम्प के आगे खाली जगह पर पार्क किया जाएगा। इसके बाद उन्हें शटल सेवा से पनीराम ढाबे तक लाया और वापस ले जाया जाएगा। प्रशासन की ओर से इस अवधि में सेना के वाहनों से आवागमन को स्थगित किये जाने के लिए अनुरोध किया गया है।