उत्तराखंड बजट सत्र : सदन में उठा सरकारी दुकानों में घटिया राशन बिक्री और गुणवत्ता का मुद्दा

0
140

बजट सत्र के तीसरे दिन बुधवार को सत्र की कार्यवाही प्रश्नकाल के साथ शुरू हुई। इस दौरान सभी प्रश्नों को सुना गया। प्रश्नकाल के दौरान मंत्री और कांग्रेस विधायकों के बीच नोकझोंक भी हुई।

बुधवार को सदन की कार्यवाही 11 बजे शुरू होते ही 11.15 बजे के लिए स्थगित करनी पड़ी के फिर 11.15 से 11.30 बजे तक के लिए स्थगित हुआ। इसके बाद सदन की कार्यवाही 11.30 बजे शुरू हुआ। हरिद्वार ग्रामीण से कांग्रेस के विधायक अनुपमा रावत ने सवाल पूछा कि राशन की दुकानों से घटिया राशन पर कार्यवाही और गुणवत्ता के लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं। मंत्री रेखा आर्या ने इस अल्पसूचित प्रश्न का उत्तर देते हुए बताया कि 2022-23 में घटिया राशन की शिकायत नहीं आई है। राशन के गुणवत्ता के लिए कदम उठाये जा रहे हैं। समय-समय पर भारत सरकार के नामित निरीक्षण दल दुकानों और खाद्यान्न का निरीक्षण करते हैं। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्या ने मंत्री के उत्तर पर कहा कि कितने दुकानों में निरीक्षण किया और कितनी दुकानों की शिकायत मिलीं। मंत्री ने कहा कि पांच सालों से कोई शिकायत नहीं आई राशन की दुकानों की। नेता प्रतिपक्ष अपने क्षेत्र में एक भी दुकान की शिकायत बताएं।

भाजपा विधायक डोईवाला बृजभूषण गैरोला ने तारांकित प्रश्न के तहत पूछा कि खिलाड़ियों को प्रोत्साहित के लिए कोई कार्ययोजना बनाई गई है क्या? इस पर मंत्री ने कहा कि हां, खिलाड़ियों के लिए मुख्यमंत्री उदयीमान खिलाड़ी उन्नयन योजना का शुभारंभ 29 अगस्त 2022 को किया गया है, जिसमें 1500 सौ प्रतिमाह की दर से छात्रवृत्ति दी जा रही है।

प्रीतम सिंह पंवार ने पूछा कि वाहन चालक के लाइसेंस शुल्क जनपदों में अलग-अलग ली जा रही है। इस पर संसदीय कार्य मंत्री ने बताया कि पारदर्शी बनाने के लिए ऑनलाइन सुविधा विकसित की गई है। ममता राकेश के सवाल मंत्री ने बताया कि गौरा योजना में पात्रता में कोई बदलाव नहीं किया गया। संसदीय मंत्री ने बताया कि अब तक 01 जनवरी 2020 से 31 जनवरी 2023 तक कुल 579 व्यक्तियों को दुर्घटना राशि वितरित की गई। मजिस्ट्रेट जांच पर ही राशि वितरण की व्यवस्था थी। 03 मार्च से मजिस्ट्रेटी जांच को समाप्त कर दिया गया है। मृत्यु होने पर 2 लाख और गंभीर घायल की स्थिति में एक लाख रुपये दिए जाते हैं। सामान्य रूप से घायल को दस हजार रुपये दिए जाते हैं। प्रश्नकाल समाप्त होने पर व्यवस्था से जुड़े प्रश्न को विपक्ष के विधायक रख रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्या ने कल की घटना के लिए खेद प्रकट किया। इस दौरान संसदीय कार्यमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने निलंबन वापस लेने की विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह किया। इस पर प्रीतम सिंह ने कहा कि एक दिन का निलंबन था। अब किस प्रकार से वापस लिया जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अब पीछे की बात छोड़कर अब आगे बढ़ना है।

कांग्रेस विधायकों ने भर्ती परीक्षाओं की सीबीआई जांच की मांग को लेकर विधानसभा के बाहर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर जमकर नारेबाजी की।

गैरसैंण के भराड़ीसैंण विधानसभा में धामी सरकार अपराह्न 02 बजे बजट आज पेश करेगी। वित्त मंत्री डा. प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए 78 हजार करोड़ रुपये के बजट का अनुमान है। वित्त मंत्री के मुताबिक बजट समावेशी होगा और इसमें युवाओं, महिलाओं, किसानों और व्यापारी, श्रमिक और नौकरी-पेशा लोगों के लिए खास प्रावधान होंगे। संवाद के जरिये जो सुझाव जनता से प्राप्त हुए हैं, उनमें से जो महत्वपूर्ण हैं, उन्हें बजट की घोषणाओं में शामिल करने का प्रयास किया गया है।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के चकराता विधायक प्रीतम सिंह का कहना है कि राज्यपाल के अभिभाषण के माध्यम से जो रोड मैप सरकार ने तैयार किया है। इसको देखते हुए लगता है कि सरकार की ओर से इस बजट में बड़ी-बड़ी घोषणाएं हैं लेकिन उन घोषणाओं को धरातल पर लाने के लिए सरकार के पास पर्याप्त पैसा नहीं है।